Create

फालसा खाने के फायदे - Falsa Khane Ke Fayde

फालसा खाने के फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
फालसा खाने के फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

गर्मियों के मौसम में फालसा (Black Currant) फल खाना फायदेमंद होता है। यह मटर के दानों जितने छोटे होते हैं। इनका रंग लाल या बैंगनी होता है और स्वाद में खट्टे-मीठे होते हैं। फालसा शरीर में होने वाली कई बीमारियों और स्वास्थ्य समस्याओं से बचाव कर सकता है। इसकी तासीर ठंडी होती है। गर्मियों में इसके शरबत के सेवन से अनेक लाभ देखे गए हैं, यह शरीर की गर्मी को कम करने में सक्षम है। फालसे के कई औषधीय गुण भी होते हैं। इसमें कैल्शियम, विटामिन A, प्रोटीन, एंटी-ऑक्सीडेंट, पोटेशियम, फास्फोरस जैसे पोषक तत्व होते हैं। इसका सेवन बुखार, गठिया, डायबिटीज आदि में भी उपयोगी होता है। इस लेख में हम फालसा खाने के फायदे बताने जा रहे हैं। आइये इस विषय में चर्चा करें।

फालसा खाने के फायदे - Falsa Khane Ke Fayde In Hindi

आर्थराइटिस (Arthritis)

फालसा का सेवन गठिया यानी आर्थराइटिस की समस्या में लाभदायक होता है। इसमें एंटी-आर्थराइटिस प्रभाव पाया जाता है। इस फल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण यह जोड़ो के दर्द और सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इसमें फ्लेवोनोइड्स, फेनोलिक यौगिक और विटामिन C पाया जाता है।

सूजन के लिए (For inflammation)

सूजन के लिए फालसा का सेवन उपयोगी होता है। शरीर में आयी सूजन के लिए 50ml फालसा के रस में नमक और काली मिर्च मिलाकर इसका सेवन करें। यह उपयोग सूजन के लिए मददगार हो सकता है।

मधुमेह (Diabetes)

लौ ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थो में मौजूद कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में धीमी गति से टूटते हैं, इसी कारण ग्लूकोस का स्तर एक बार में नहीं बढ़ता है। फालसा में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) होता है जिसके कारण डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। इस फल का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद है।

कैंसर (Prevents Cancer)

फालसा में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स लीवर कैंसर से हमारे शरीर की रक्षा कर सकते हैं। इस फल में एंटी-कैंसर गुण मौजूद होते हैं जो ऐसी स्थिति में लाभदायक साबित होते हैं। फालसा फल का सेवन आपको कैंसर जैसी प्राणघातक बीमारी से भी बचा सकता है। इस फल या इसके रस का सेवन करने से यह गुण आप तक पहुंच सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment