Create

आंबा हल्दी के फायदे- Aamba Haldi Ke Fayde

आंबा हल्दी के फायदे(फोटो:freepik)
आंबा हल्दी के फायदे(फोटो:freepik)
reaction-emoji
Ritu Raj

हल्दी में एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण (Haldi Ke Fayde) पाए जाते हैं। स्किन और शरीर की कई परेशानियों को ठीक करने में हल्दी काफी फायदेमंद होती है। हल्दी का इस्तेमाल कई तरीकों से किया जाता है। हल्दी को खाया भी जाता है साथ ही इसे दूध में डालकर पीया भी जाता है। लेकिन आज हम बात करेंगे आंबा हल्दी (Amba Haldi Ke Fayde) के बारे में, जो बहुत सारी बीमारियों के उपचार में प्रयोग की जाती है। खांसी, सांस रोग, हिचकी, रुक-रुक कर पेशाब आना जैसी कई बीमारियों के उपचार में आंबा हल्दी अपना कमाल का असर दिखाती है।

आंबा हल्दी के फायदे Benefits of Amba Turmeric in Hindi

-सूजन को कम करने के लिए आंबा हल्दी को गर्म करके बांधने से सूजन दूर हो जाती है।

-पेट दर्द की समस्या में आंबा हल्दी और काला नमक को मिलाकर पानी के साथ पीने से काफी आराम मिलता है।

-खाज-खुजली की समस्या होने पर आंबा हल्दी को पीसकर शरीर के प्रभावित जगह पर लगाने से काफी हद तक इसमें आराम मिलता है।

-गिल्टी की समस्या में थोड़ा सा चूना, आंबा हल्दी व गुड़ मिलाकर एक में पीस लें और गिल्टी पर बांध लें, इससे गिल्टी जल्दी फूटती है।

-काला दाग से छुटकारा पाने के लिए आंबा हल्दी लगाए। इससे जल्दी ही आराम मिल जाएगा

पीलिया (Amba Turmeric in Jaundice disease)

पीलिया बेहद ही गंभीर समस्या है, इस बीमारी का अगर सही समय पर इलाज नहीं किया जाए तो मरीज की मौत भी हो सकती है। पीलिया होने पर आंबा हल्दी का इस्तेमाल करें। इसके लिए 7 ग्राम आंबा हल्दी का चूर्ण, पांच ग्राम चंदन का चूर्ण शहद में मिलाकर सुबह और शाम सात दिन तक सेवन करने से फर्क अपने आप दिखने लगता है।

टूटी हड्डी व अंदर की चोट (Amba Turmeric for Broken Bone and Internal Injury)

अगर किसी की हड्डी टूट गई है या फिर अंदर की चोट लगी है तो ऐसे में आंबा हल्दी कमाल का असर दिखा सकती है। इसके लिए 10 ग्राम आंबा हल्की व चौधारा लेकर घी में भून लें। उसमें पांच-पांच ग्राम सज्जी व सेंधा नमक मिलाकर बांध लें इससे टूटी हड्डी व अंदर की चोट में काफी लाभ मिलेगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...