Create

गर्भाशय में सूजन के कारण और लक्षण - Garbhashay me sujan ke karan aur lakshan

गर्भाशय में सूजन के कारण और लक्षण
गर्भाशय में सूजन के कारण और लक्षण

कई महिलाओं को पेट में दर्द की समस्या होती है जिसे वो कई बार सामान्य पेट दर्द समझकर नजरअंदाज कर देती हैं। कई बार ये खानपान में गड़बड़ी के कारण होता है लेकिन, अगर ऐसा लंबे समय से हो रहा है तो इसका कारण बच्चेदानी यानी गर्भाशय (Uterus Swelling) में सूजन भी हो सकता है। इस स्थिति में महिला को पेट दर्द के अलावा बुखार, सिर में दर्द और कमर दर्द के लक्षण भी दिखाई देते हैं। समय पर इस समस्या का इलाज न कराया जाय तो यह कैंसर जैसी बड़ी बीमारी का कारण भी बन सकती है। जिसे गर्भाशय फाइब्रॉएड (uterine fibroid) कहते हैं।

जाने क्या है गर्भाशय फाइब्रॉएड (Know what is uterine fibroid)

फाइब्रॉयड एक नॉन-कैंसर ट्यूमर है जो गर्भाशय की मांसपेशी की परतों पर बढ़ते हैं। फाइब्रॉयड चिकनी मांसपेशियों और रेशेदार ऊतकों की विस्तृत रूप हैं। फाइब्रॉयड का आकार भिन्न हो सकता है, यह सेम के बीज से लेकर तरबूज जितना हो सकता है। लगभग 20 फीसदी महिलाओं को पूरे जीवन में फाइब्रॉयड कभी न कभी जरूर प्रभावित करता है। 30 से 50 के बीच आयु वर्ग की महिलाओं को फाइब्रॉयड विकसित होने की आशंका सबसे अधिक रहती है। सामान्य वजन वाली महिलाओं की तुलना में अधिक वजन और मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में फाइब्रॉयड विकसित होने का उच्च जोखिम रहता है।

बच्चेदानी में सूजन का कारण |Causes of uterus swelling

भूख से ज्यादा खाना खाने से

अधिक दवाओं के सेवन से

बदलते मौसम में ही इसके होने की संभावना रहती है

ज्यादा व्यायाम करने से भी ये समस्या हो सकती है

तंग और अधिक कसे हुए कपड़े पहनने पर

प्रसव के दौरान सावधानी न बरतने पर

अधिक यौन संबंध बनाने के कारण

गर्भाशय में सूजन के लक्षण |symptoms of uterus swelling

प्राइवेट पार्ट में खुजली या जलन

महामारी के दौरान असहनीय दर्द

पेट की मांसपेशियों में कमजोरी

पेट दर्द, गैस तथा कब्ज होना

पीठ में दर्द, बुखार

महामारी के दौरान ठंड लगना

यौन संबंध के दौरान दर्द

लगातार पेशाब आना

लूज मोशन, उल्टी

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment