Create

सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान

सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान (फोटो - sportskeeda hindi)
सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान (फोटो - sportskeeda hindi)
Naina Chauhan

एक समय था जब मां बच्चों को घर में जन्म दे देती थी। लेकिन आज के समय में ज्यादातर बच्चों का जन्म सिजेरियन डिलीवरी से ही होती है। सिजेरियन डिलीवरी में मां के शरीर को बहुत नुकसान होता है। सी सेक्शन या सिजेरियन डिलीवरी का महिलाओं के स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ता है। सिजेरियन डिलीवरी का महिलाओं के स्वास्थ्य पर लंबे समय तक प्रभाव रहता है। कई बार महिला की कमर में भी दर्द की समस्या हो जाती है, जो लंबे समय तक परेशान करती है। तो चलिए जानते हैं सिजेरियन डिलीवरी Cesarean Delivery के नुकसान।

रिकवरी में अधिक समय लगता है - अगर किसी महिला की नॉर्मल डिलीवरी हुई है तो उसकी तुलना में सिजेरियन डिलीवरी वाली महिलाओं की रिकवरी में अधिक समय लगता है। आपको बता दें, सी सेक्शन से हुई डिलीवरी से रिकवरी करने में औसतन 4 से 6 सप्ताह का भी समय लग सकता है। सिजेरियन डिलीवरी में पेट की मांसपेशियों को काटकर बच्चे को निकाला जाता है जिसकी वजह से इसमें जोखिम भी शामिल होता है। यह एक बड़ी सर्जरी होती है और इसके कारण खून भी सामान्य डिलीवरी की तुलना में अधिक निकलता है।

प्लेसेंटा प्रीविया और प्लेसेंटा एक्रीटा की समस्या - आपको बता दें, सिजेरियन डिलीवरी के कारण महिलाओं में प्लेसेंटा प्रीविया और प्लेसेंटा एक्रीटा की समस्या बढ़ रही है। जिसकी वजह से मां और गर्भ में पल रहे बच्चे दोनों को खतरा होता है। पहले प्रसव के दौरान होने वाली दिक्कतों और सी सेक्शन के कारण महिलाओं में यह समस्या बढ़ती है। गर्भनाल बच्चेदानी के आसपास या यूरिनरी ब्लैडर (पेशाब की थैली) में घुस जाने को प्लेसेंटा एक्रीटा कहते हैं। इन समस्याओं में बच्चेदानी के फटने का भी खतरा रहता है।

शरीर में कमजोरी का अधिक खतरा रहता है - आपको बता दें, नॉर्मल डिलीवरी की तुलना में सिजेरियन डिलीवरी के कारण महिलाओं का शरीर अधिक कमजोर हो जाता है। शरीर से अधिक मात्रा में खून निकलने की वजह से शरीर कमजोर हो जाता है। कई बार सिजेरियन डिलीवरी के दौरान हुई दिक्कतों की वजह से महिला को लंबे समय तक इसके साइड इफेक्ट्स से जूझना पड़ता है। सिजेरियन डिलीवरी में पेट की मांसपेशियों को काटना भी शामिल होता है, जिसके कारण खून अधिक मात्रा में निकलता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Naina Chauhan

Comments

comments icon
Fetching more content...