Create
Notifications

चावल का पानी पीने के 5 फायदे : Chawal Ka Pani Peene Ke 5 Fayde 

चावल का पानी पीने के फायदे  (फोटो - food india)
चावल का पानी पीने के फायदे (फोटो - food india)
Naina Chauhan

चावल का पानी, जिसे चावल पर उबाल आने पर पाते हैं, वह सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है। इस पानी से बालों से लेकर त्‍वचा और संपूर्ण सेहत को फायदा होता है। चावल का पानी (rice water) पाचन में मददगार है और यह आपकी त्‍वचा और बालों के साथ कब्‍ज और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। चावल के पानी को चुटकी भर नमक और काली मिर्च के साथ पिया जा सकता है। आइए यहां हम आपको चावल के पानी के 5 अद्भुत फायदे बताते हैं।

चावल का पानी पीने के 5 फायदे - Chawal Ka Pani Peene Ke 5 Fayde In Hindi

एनर्जी बूस्‍ट होती है - चावल का पानी एक एनर्जी बूस्‍टर ड्रिंक का काम करता है, यह आपकी ऊर्जा को बढ़ावा देता है। चावल के पानी (rice water) में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा होती है, जो एनर्जी बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

लो ब्लड प्रेशर ठीक करता है - चावल का पानी (rice water) पीने से शरीर में खून का संचार ठीक से होता है। इसके साथ ही यह शरीर के तापमान को भी संतुलित रखता है। इससे लो ब्लड प्रेशर की समस्या दूर होती है। नमक डालकर चावल का मांड पीने से ये समस्या खत्म हो जाती है।

फाइबर से भरपूर - चावल के पानी (rice water) से पाचन क्रिया बहुत अच्छी होती है और पेट की अपच भी खत्म हो जाती है। चावल के मांड में फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है। मांड पीने से दस्त भी ठीक हो जाते हैं।

बाल धोएं - अगर किसी के बाल झड़ रहे हैं और सफेद हो रहे हैं या इनकी चमक कम हो रही है तो बाल मांड से धोने के बाद या मांड का लेप करके इन समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। मांड (rice water) के लेप से बाल मजबूत होते हैं और इनमें चमक आती है। बालों की जड़ों में चावल के मांड का लेप करना चाहिए।

विटामिन बी, सी और ई से भरपूर - चावल के पानी (rice water) में विटामिन बी, सी और ई की अच्छी मात्रा होती है। ये सभी विटामिन शरीर की थकान को दूर करने में मदद करते हैं। मौसम के अनुसार होने वाले वायरल बुखार में चावल का मांड (चावल के पानी) दवा का काम करता है। अगर वायरल हो गया है तो चावल का गर्मागर्म मांड नमक डालकर पिलाने से फायदा पहुंचता होता है। इससे शरीर में पानी की कमी पूरी होती है और बुखार (fever) के चलते कमजोर हुई प्रतिरोधक क्षमता (immunity) मजबूत होती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Naina Chauhan

Comments

Fetching more content...