Create

डायबिटीज के मरीज सुबह पिएं दालचीनी की चाय, मिलते हैं ये 5 फायदे : Diabetes Mei Dalchini Ki Chai Ke Fayde

डायबिटीज के मरीज सुबह पिएं दालचीनी की चाय, मिलते हैं ये 5 फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)
डायबिटीज के मरीज सुबह पिएं दालचीनी की चाय, मिलते हैं ये 5 फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)

डायबिटीज के मरीजों के लिए लाइफस्टाइल को सही रखना बेहद जरूरी है। ऐसा इसलिए क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही भी ब्लड शुगर लेवल को तेजी से बढ़ा सकती है। ऐसे में कुछ लोगों का फास्टिंग ब्लड शुगर हमेशा बढ़ा रहता है जो कि चिंता का कारण बनता है। इसके लिए दालचीनी की चाय लाभकारी हो सकती है। क्योंकि ये चाय इंसुलिन के प्रोडक्शन को तेज करने और ब्लड शुगर पचाने में तेजी से मदद करती है। साथ ही दालचीनी की चाय मूड फ्रेश करने का भी काम करती है। जानते हैं दालचीनी की चाय के फायदे।

डायबिटीज में दालचीनी की चाय के फायदे (Cinnamon tea in diabetes)

फास्टिंग ब्लड शुगर को कम करती है - दालचीनी के अर्क के सेवन के टाइप 2 मधुमेह या प्रीडायबिटीज वाले लोगों में फास्टिंग ब्लड शुगर कम होता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को सुबह सबसे पहले इसका सेवन करना चाहिए।

इंसुलिन सेंसिटिविटी बढ़ाती है - डायबिटीज में दालचीनी की चाय इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ावा देता है। डायबिटीज में पेनक्रियाज सही तरीके से इंसुलिन का प्रोडक्शन नहीं कर पाती है जिसकी वजह से ब्लड शुगर बढ़ने लगता है। ऐसे में दालचीनी इंसुलिन के प्रभावों की नकल करके शुगर पचाने में मदद करती है जिससे ब्लड शुगर लेवल अपने आप कम होने लगता है।

भोजन के बाद ब्लड शुगर को कम करती है - दालचीनी की चाय खाने के बाद के ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है। दालचीनी की चाय ब्लड शुगर स्पाइक्स को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकती है।

कोलेस्ट्रॉल कम करती है - दालचीनी की चाय कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करती है। दालचीनी में दिल को स्वस्थ रखने वाले यौगिक होते हैं, जो सूजन को कम कर सकते हैं और गुड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकते हैं।

एंटीऑक्सेंड से भरपूर - दालचीनी की चाय एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है, जो फ्री रेडिकल्स को कम करने में मददगार है। दालचीनी की चाय शरीर को मुक्त कणों से लड़ने की क्षमता को बढ़ा सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment