डायबिटीज में खाएं आंवले के लड्डू : Diabetes Mein Khaye Amla Ke Ladoo

डायबिटीज में खाएं आंवले के लड्डू (फोटो - sportskeeda hindi)
डायबिटीज में खाएं आंवले के लड्डू (फोटो - sportskeeda hindi)

डायबिटीज की बीमारी है धीरे-धीरे पूरे शरीर को प्रभावित करने लगती है। इसकी वजह से दिल की बीमारी का खतरा भी बढ़ जाता है। साथ ही आंख खराब हो सकती हैं और स्किन से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं। ऐसे में जरूरी ये है कि अगर आपको डायबिटीज की बीमारी है तो आप अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करके रखें। डायबिटीज के मरीजों को अपनी डाइट में आंवले (Amla in Diabetes) को शामिल करना बेहद जरूरी है। अगर आप आंवले का सेवन ऐसे नहीं कर सकते हैं तो इसकी जगह आंवले के लड्डू भी बनाकर खा सकते हैं। इससे डायबिटीज के मरीजों की मीठा खाने की चाह को भी पूरी होगी। जानते हैं आंवले के लड्डू बनाने की विधि और इसके फायदे।

आंवले के लड्डू के फायदे - Amla Laddu Benefits In Hindi

शुगर नहीं बढ़ाता - जिन लोगों को शुगर की बीमारी होती है, उन्हें अक्सर ज्यादा मीठा खाने का मन करता है। जिसकी वजह से शरीर में शुगर बढ़ने का खतरा बना रहता है। लेकिन आंवले का लड्डू शुगर नहीं बढ़ाता है। दरअसल, होता ये है कि आंवला पेनक्रियाज के काम काज को तेज करता है और इंसुलिन के प्रोडक्शन को बढ़ता है। इससे शरीर में शुगर को पचाने में मदद करने के साथ इसके स्पाइक को रोकने में सहायता मिलती है।

सेल डैमेज को कम करता है - आंवला विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर है जो कि ऑक्सीडेटिव तनाव के कारण सेल्स के डैमेज को धीमा करता है। आंवला एंटीबैक्टीरियल भी है जो कि स्किन इंफेक्शन को कम करने में मददगार है।

शरीर में कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता - आंवला (Amla Ladoo) में विटामिन-सी और फाइबर की प्रचुरता शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाती है और बैड कोलेस्ट्रोल को बढ़ने से रोकती है। इसके साथ ही ये ट्राइग्लिसराइड के स्तर को भी कम करता है। ऐसे में डायबिटीज के मरीज ट्राइग्लिसराइड के बढ़ने की चिंता किए बिना आंवले के लड्डू को खा सकते हैं।

आंवले के लड्डू बनाने की विधि - Amla ladoo recipe in hindi

सबसे पहले आंवले के लड्डू बनाने के लिए आंवले को हल्का सा उबाल कर रख लें।

अब एक कढ़ाई में थोड़ा सा तेल डालें और उसमें करी पत्ता और सौंफ डालें।

फिर इसमें गुड़ और पानी डालकर चाशनी बनना लें।

इसमें जायफल, इलायची और बादाम को कूटकर मिला लें।

अब इसमें थोड़ा सा काला नमक डालें।

अब उबले हुए आंवले में कांटे वाली चम्मच से हल्का-हल्का छेद कर लें।

और गुड़ की इस चाशनी में आंवला डालते जाएं।

इस दौरान आंच धीमी रखें।

अब जब आंवला पूरी तरह से मिल जाए तो गैस बंद कर दें।

तैयार हो गया आपका आंवले का हेल्दी लड्डू।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan