Create
Notifications

दिमाग तेज़ कैसे करें?: Dimaag tez kaise karein

फोटो: नवभारत टाइम्स
फोटो: नवभारत टाइम्स
Amit Shukla

दिमाग का तेज एवं तंदरुस्त होना बेहद जरूरी है। एक छोटी सी गलती आपके लिए परेशानी का कारण बन सकती है और ये आपके दिमाग के लिए किसी भी प्रकार से सही नहीं है। ऐसे कई लोग हैं जिन्हें दिमाग का मास्टर या जीनियस कहा जाता है जबकि कई अन्य इस खिताब से कोसों दूर हैं।

ये भी पढ़ें: बॉडी में ब्लड कैसे बढ़ाएं: Body me blood kaise badhaye?

इसकी एक बड़ी वजह है हमारी दिनचर्या जिसमें हम कुछ अच्छा खाने की आदत नहीं रखते हैं। आजकल के दौर में जहाँ टीवी एवं मोबाइल हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गए हैं वहीँ सही खाने ने जीवन से दूरी बना ली है। यही वजह है कि हम फ़ास्ट फ़ूड एवं तले भुने खाने को ज्यादा पसंद करते हैं।

ये भी पढ़ें: खून की कमी से होने वाले नुकसान: khoon ki kami se hone wale nuksaan

ये देखना जरूरी होगा कि हम आजकल के दौर में क्या करते हैं और क्या खाते हैं क्योंकि आपके द्वारा खाई गई चीजें ही आपकी सेहत को बनाती हैं। अगर आप सिर्फ उन चीजों को खाएंगे जो वजन या फैट एवं मोटापा बढ़ाने में कारगर हैं तो आपको ऐसे अनुभव नहीं हो सकते हैं जो आपके दिमाग एवं शरीर को तंदरुस्त रखें। आइए आपको बताते हैं उन चीजों के बारे में जिनको खाकर आप अपने दिमाग को तेज कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: नमक के पानी से चेहरे को धोने के फायदे जानकर आप इस्तेमाल जरूर करेंगे

दिमाग तेज़ कैसे करें

कॉफी - कॉफी को पीने से एकाग्रता बढ़ती है और चूँकि कॉफी में एंटीऑक्सीडेंट्स भी पाए जाते हैं तो उससे आपको अपने ब्रेन को बेहतर करने में मदद मिलती है। कैफीन का लिमिटेड सेवन आपके शरीर के लिए अच्छा है और आपको ऐसा जरूर करना चाहिए।

बादाम एवं अखरोट - इन दोनों में सही मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है। इससे आप मेमोरी लॉस से बच सकते हैं। अगर आप इसका सेवन प्रतिदिन करते हैं तो आपको मेमोरी लॉस की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पालक - पालक में मैग्नीशियम एवं पोटैशियम पाया जाता है जो याददाश्त एवं सीखने की क्षमता को बेहतर करता है। पालक में फोलेट होता है जिसकी कमी से मेमोरी लॉस एवं अल्जाइमर के होने का खतरा रहता है।

फाइबर ग्रेन - कोई भी साबुत अनाज आपकी सेहत को ठीक रखता है। इसलिए जरूरी है कि आप फाइबर युक्त ग्रेन का इस्तेमाल करें ताकि आपका दिमाग तेज हो सके।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...