Create
Notifications

गले की खराश को दूर करने के लिए पीएं हल्दी दूध - Gale ki Kharash ko door karne ke liye piye Haldi-Dudh

गले की खराश को दूर करने के लिए पीएं हल्दी दूध
गले की खराश को दूर करने के लिए पीएं हल्दी दूध
reaction-emoji
Ritu Raj
visit

Turmeric Milk for sore Throat: हल्दी कई रोगों के लिए दवा की तरह काम करती है। इसके नियमित सेवन से कई बीमारियों से बचा जा सकता है। वहीं, दूध भी शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। अगर इन दोनों को एक साथ मिला दिया जाए तो इसके लाभ और भी अधिक बढ़ जाते हैं। बदलते मौसम में गले में खराश होना आम समस्या है। गर्मी, सर्दी के साथ ही बारिश के मौसम में भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में हल्दी के साथ दूध (Haldi Dudh ke Fayde) का सेवन करना फायदेमंद माना गया है।

इन गुणों के चलते गले की खराश और अन्य समस्याओं में लाभकारी है हल्दी दूध (Benefits of Milk and Turmeric)

दरअसल, जब छाती में जलन होने लगती तो कभी-कभी यह एसिड गले और वॉयस बॉक्स तक पहुंच जाता है। जिसके बाद, गले में खराश होने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। वायरल इंफेक्शन गले की खराश का सबसे आम कारण है। वायरल इंफेक्शन होने पर गले में खराश के साथ ही सर्दी-खांसी की भी समस्या हो जाती है। ऐसे में हल्दी और दूध इन समस्याओं से छुटकारा दिलाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। हल्दी में एंटी बैक्टीरियल, एंटी सेप्टिक, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी ऑक्सीडेंट जैसे गुण पाए जाते हैं जो शरीर से इंफेक्शन को दूर करने में मदद करते हैं।

गले की खराश (Turmeric milk to get relief from sore throat)

गले की खराश की समस्या होने पर सोने से पहले दूध में हल्दी डालकर पीने से काफी आराम मिलता है। इससे अच्छी नींद भी आती है। इसके लिए एक गिलास गर्म दूध में कच्ची हल्दी का पाउडर मिला लें और पी जाएं। हल्दी और दूध पीने के बाद पानी पीने से बचना चाहिए। सुबह उठेंगे तो गले की खराश की समस्या में फर्क दिखेगा। इससे पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए नियमित रूप से इसका सेवन करें।

सर्दी-खांसी (Turmeric milk gives relief from cold and cough)

गले की खराश की समस्या से जिस तरह हल्दी और दूध छुटकारा दिलाते हैं उसी तरह यह सर्दी और खांसी की समस्या को भी दूर भगाते हैं। हल्दी का एंटीसेप्टिक और एस्ट्रिंजेंट गुण दूध के साथ मिलकर ड्राई कफ संबंधी श्वास समस्याओं से बहुत जल्दी आराम दिलाता है।

सिर दर्द से दिलाए राहत (Sir dard me piye Haldi aur Dudh)

बदलते मौसम में जब वायरल इंफेक्शन होता है तो गले की खराश के साथ सर्दी-जुकाम भी हो जाता है। इसमें कई बार सिरदर्द की भी समस्या हो जाती है। ऐसे में हल्दी और दूध नेचुरल एस्पिरिन का काम करेंगे। क्योंकि, इसमें एंटीऑक्सीडेंट होने के साथ ही जरूरी पौष्टिकता प्रचुर मात्रा में होते हैं जो सिर दर्द और बदन दर्द से भी आराम दिलाने में मदद करते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now