Create

जुंबा के लिए एक्सरसाइज- Jeebh ke liye exercise

जुंबा के लिए एक्सरसाइज Image: freepik
जुंबा के लिए एक्सरसाइज Image: freepik
Ritu Raj

सेहतमंद रहने के लिए एक्सरसाइज बेहद जरूरी है, आजकल का हमारा लाइफस्टाइल ऐसा हो गया है कि लगभग हर कोई किसी ना किसी बीमारी से परेशान ही रहता है। इसलिए आज के समय में व्यायाम बेहद जरूरी है। बाकी शरीर का व्यायाम तो हर किसी को पता है लेकिन क्या आपको पता है कि जीभ का भी व्यायाम होता है और इससे कई बड़े फायदे होते हैं।

जीभ का एक्सरसाइज

जीभ के व्यायाम से आप एक दो नहीं बल्कि चार रोगों से आसानी से बच सकते हैं। अपनी जीभ को मोड़कर तालु से लगा लें, फिर नाक से धीरे-धीरे सांस लें, इसके बाद 5-10 सेकेंड तक सांस रोक लें फिर इतनी ही सेकेंड में गहरी सांस लें और अपना मुंह भी सांस को फूलाकर 10 सेकेंड तक रोको उसके बाद मुंह से बाहर हवा को सीटी की आवाज में निकालें, इस व्यायाम को रोज करने से कई गंभीर रोग खत्म किया जा सकता है।

जिनका पेट हमेशा खराब रहता है या फिर डाइजेशन संबंधी समस्याओं जैसे कब्ज, एसिडिटी और गैस से परेशान रहती हैं, उन्हें अपने रूटीन में इस एक्‍सरसाइज को शामिल करना चाहिए। रोजाना इसे करने से धीरे-धीरे ये बीमारियां दूर हो जाएंगे। इसके साथ ही चेहरे की झुर्रियों से भी छुटकारा मिल सकता है।

जीभ की इसी एक्सरसाइज को रोजाना 1 मिनट करने से चेहरे की झुर्रियां और दाग-धब्बे खत्म हो जाते हैं। इसके साथ ही जिन्हें सोते समय सांस लेने में परेशानी होती है उन्होंने भी रोजाना ये एक्‍सरसाइज करना चाहिए साथ ही हार्ट रोगियों के लिए भी यह एक्‍सरसाइज बहुत फायदेमंद होती है।

इस एक्सरसाइज को करने से आप तनाव से आसानी से छुटकारा पा सकती हैं। आपके नर्वस सिस्‍टम को नेचुरल तरीके से सुधारने में काफी हेल्प करता है, साथ ही यह शरीर के तनाव से छुटकारा पाने में भी बहुत फायदेमंद है। एस एक्सरसाइज चार बार दोहराए और रोजाना दो से तीन महीने लगातार करें फायदा अपने आप नजर आने लगेगा।

मुंह धोते समय रोजाना करें ये व्यायाम

स्वस्थ जीवन का एक मंत्र है व्यायाम। मुंह धोते वक्त पूरी जीभ को बाहर निकालकर 10 बार दाएं-बाएं घुमाने से कई सारी समस्याएं खत्म होती हैं। जिसमें से एक है अल्जाइमर जिस पर जीभ के इस सरल व्यायाम से नियंत्रण पाया जा सकता है। इसके अलावा इसके कई सारे और फायदे हैं, जैसे वजन संतुलन में होना, ब्लड प्रेशर नियंत्रित होना, अस्थमा ठीक होना, कंधे व गले का दर्द ठीक होना, अनिद्रा का रोग ठीक होना आदि शामिल है।


Edited by Ritu Raj

Comments

comments icon
Fetching more content...