Create

गठिया रोग में करें ये परहेज : Gathiya Rog Mein Karein Yeh Parhej

गठिया रोग में करें ये परहेज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
गठिया रोग में करें ये परहेज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

पुराने समय में यह माना जाता था के आर्थराइटिस (Arthritis) केवल एक उम्र के बाद बुजुर्ग लोगो को ही होता है। परन्तु आज के समय में यह कथन सही नहीं माना जायेगा। आर्थराइटिस को गठिया और जोड़ों का दर्द भी कहते हैं। यह दर्द शरीर के किसी भी हिस्से में उस जगह पर हो सकता है, जहां दो हड्डियां आपस में जुड़ रही हों। कभी-कभी तकलीफ इतनी बढ़ जाती है कि आपको चलने-फिरने में भी दिक्कत हो सकती है। लेकिन चिंता की बात नहीं! कुछ परेहजों से आप इनके लक्षण और दर्द पर काबू कर सकते है। इस लेख में आप जानेंगे की गठिया रोग में क्या परहेज करने चाहिए।

गठिया रोग में करें ये परहेज : Gathiya Rog Mein Karein Yeh Parhej In Hindi

1. रेड मीट व फ्राइड फ़ूड (Red meat and fried food)

फूडरेड मीट में सैचुरेटिड फैट हाई होता है, जो उच्च कोलेस्टॉल और इनफलेमेशन का कारण बन सकता है। अगर आप गठिया की समस्या को बढ़ाना नहीं चाहते तो आपको फ्राइड मीट के साथ−साथ अन्य फ्राइड फूड जैसे डोनट्स व फ्रेंच फ्राइस आदि से भी दूरी बनानी चाहिए।

2. ठंडी चीजों से परहेज (Avoid cold food and drinks)

गठिया के मरीजों को ठंडी चीजों से दूर रहना चाहिए, इसको खाने से आपको काफी नुकसान हो सकता है। ऐसे में गठिया के मरीजों को फ्रिज में रखी हुई दही,खट्टी और ठंडी छाछ का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही आइसक्रीम,कुल्फी और बर्फ से तैयार चीजों का सेवन भी नहीं करना चाहिए।

3. अधिक प्रोटीन चीजों से परहेज (Avoid excessive protein intake)

गठिया के मरीजों को प्रोटीन युक्त चीजों को डाइट में शामिल नहीं करें, गठिया के मरीजों को अधिक प्रोटीन युक्त चीजों के सेवन से परहेज करना चाहिए। प्रोटिन युक्त चीजों का सेवन गठिया के मरीजों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

4. अखरोट से करें परहेज (Avoid walnuts)

गठिया के मीरजों को अखरोट के सेवन से परहेज करना चाहिए, अखरोट का सेवन करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ सतकी है। ऐसे में अखरोट का सेवन ना करें इससे आपको बहुत सारे नुकसानदायक हो सकता है।

5. प्रोसेस्ड फूड (Avoid process foods)

प्रोसेस्ड फूड जैसे पहले से पैकेज्ड मील व स्नैक्स आदि को आपको खाने से परहेज करना चाहिए। दरअसल, प्रोसेस्ड फूड को प्रिजर्व करने के लिए ट्रांस फैट का इस्तेमाल किया जाता है और यही ट्रांस फैट इनफलेमेशन को टि्रगर कर सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment