Create

हरा धनिया का जूस पीने के 5 फायदे-Hara Dhaniya Ka Juice Pine Ke 5 Fayde

हरा धनिया का जूस पीने के 5 फायदे(फोटो-Sportskeeda hindi)
हरा धनिया का जूस पीने के 5 फायदे(फोटो-Sportskeeda hindi)

सर्दियों के मौसम में हरा धनिया (Coriander) का ज्यादा उपयोग किया जाता है। हरा धनिया के इस्तेमाल से खाने में स्वाद काफी ज्यादा बढ़ जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, हरा धनिया का जूस (Green coriander juice) स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद माना जाता है। हरा धनिया के जूस का सेवन करने से कई बीमारियां दूर होती है। हरा धनिया में कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन, थियामीन, पोटोशियम, विटामिन सी, प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट जैसे कई तत्व पाए जाते हैं। जिसका सेवन अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक साबित होता है। जानिए हरा धनिया का जूस पीने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

हरा धनिया का जूस पीने के 5 फायदे (Hara Dhaniya Ka Juice Pine Ke 5 Fayde In Hindi)

डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद

हरा धनिया का जूस डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों के लिए किसी रामबाण से कम नहीं माना जाता है। हरा धनिया का जूस पीने से शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को हरा धनिया के जूस का सेवन करना चाहिए।

पेट के लिए फायदेमंद

हरा धनिया का जूस पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। हरा धनिया का जूस पीने से पाचन तंत्र मजबूत होता है। साथ ही अपच और एसिडिटी (Acidity) की समस्या से भी छुटकारा मिल जाता है।

ब्लड प्रेशर रहता है कंट्रोल

हरा धनिया के जूस में पोटैशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है और सोडियम की मात्रा न के बराबर होती है। इसलिए इसका सेवन हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। हरा धनिया के जूस का सेवन करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

हड्डियां होती हैं मजबूत

हरा धनिया का जूस हड्डियों (Bones) को मजबूत बनाता है। क्योंकि इसमें कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है, जो हड्डियों के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है। अगर किसी की हड्डियां कमजोर हो, तो उसे हरा धनिया का जूस पीना चाहिए।

बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल होता है कम

हरा धनिया का जूस दिल के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। हरा धनिया का जूस पीने से बैड कोलेस्ट्रॉल (Bad Cholesterol) का लेवल घटता है और गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है। जिससे हार्ट अटैक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava
Be the first one to comment