Create
Notifications

एलोपेसिया का घरेलू उपचार– Alopecia ka gharelu upchar

एलोपेसिया का ये है बेहतरीन घरेलू उपचार
एलोपेसिया का ये है बेहतरीन घरेलू उपचार
Ritu Raj
visit

महिला हो या पुरुष रोजाना कुछ बालों का झड़ना आम है, लेकिन अगर आपके बाल सामान्य से ज्यादा झड़ रहे हैं तो यह स्थिति चिंताजनक है। सामान्य से अधिक बाल झड़ने को मेडिकल भाषा में एलोपेसिया रोग कहा जाता है। इस समस्या से पीड़ित पुरुषों के सामने और साइड से बाल झड़ने लगते हैं। महिलाओं में सिर के बीच वाले भाग से बालों का झड़ना शुरू हो जाता है। एलोपेसिया के कारण महिलाएं पूरी तरह गंजेपन का शिकार नहीं होती लेकिन, पुरुष पूरी तरह गंजे (Ganje hone se kaise bache) हो सकते हैं या फिर सिर के पीछे के भाग में कुछ बाल रह सकते हैं। इस समस्या में कुछ घरेलू उपचार को अपना कर काफी हद तक राहत पाया जा सकता है।

प्याज (Onion is home remedy for alopecia)

एलोपेसिया की समस्या में प्याज का रस काफी कारगर है। इसमें पाया जाने वाला जिंक स्कैल्प में प्राकृतिक तेल के उत्पादन में मदद करता है। प्याज का रस बालों के विकास के लिए फायदेमंद होता है। इसके लिए प्याज के रस को अपने स्कैल्प पर लगाकर 15 मिनट तक छोड़ दें। फिर बालों को शैम्पू से धो लें। धीरे-धीरे ये समस्या खत्म होने लगेगी।

नारियल का दूध (Coconut milk applied in alopecia)

जानकारों की मानें तो, नारियल के दूध से ही ऑर्गेनिक नारियल का तेल तैयार किया जाता है, जो बालों के विकास में सहायक साबित हो सकता है। ऐसे में नारियल के दूध को भी बालों के विकास में सहायक माना गया है। एलोपेसिया की समस्या में नारियल के दूध को हल्का गर्म कर लें और उसे अपने स्कैल्प पर लगाकर कुछ मिनट तक मसाज करें। इसके बाद इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें। कुछ ही हफ्तों में फर्क दिखने लगेगा।

नारियल का तेल (Coconut oil will cure alopecia disease)

नारियल के तेल में लौरिक एसिड भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो बालों के विकास को बढ़ावा देती है। एलोपेसिया की समस्या में भी ये लाभकारी है। इसके लिए दो चम्मच नारियल के तेल को गर्म कर लें और अपने स्कैल्प पर अच्छे से मालिश कर शॉवर कैप लगा लें। इसे नहाने से पहले लगाएं।

मेथी (Fenugreek is beneficial in alopecia disease)

एक रिसर्च की मानें तो विटामिन-ए, विटामिन-बी, विटामिन-सी, विटामिन-ई, आयरन, सेलेनियम और जिंक की कमी के कारण बाल झड़ने लगते हैं और मेथी में इन सारे पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा पाई जाती है। ऐसे में एलोपेसिया की समस्या में मेथी के पाउडर को नारियल तेल में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें और गंजेपन वाली जगह पर लगाएं। सूखने के बाद इसे धो लें।

ग्रीन टी (Green tea to cure alopecia disease)

ग्रीन टी में एपीगल्लॉकाटेचीन-3-गल्लटे मौजूद होता है, जो इसमें पाए जाने वाले पॉलीफेनोल्स का प्रमुख घटक है। यह एंड्रोजेनिक एलोपेसिया के उपचार में मददगार हो सकता है। इसके लिए एक चम्मच ग्रीन टी को पानी में डालकर कुछ मिनट तक गर्म कर लें और इसे छान लें। ठंडा होने के बाद पानी को सिर में लगाकर मालिश करें और 10 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद सिर को ठंडे पानी से धो लें। हफ्ते में तीन बार ऐसा करने से फर्क दिखने लगेगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now