कण्ठमाला के लिए घरेलू उपचार- kanthmala ke liye gharelu upchar

कण्ठमाला के लिए घरेलू उपचार(फोटो:youtube)
कण्ठमाला के लिए घरेलू उपचार(फोटो:youtube)

कण्ठमाला की समस्या होने पर गले में सूजन और जलन होने लगती है। यह एक संक्रामक रोग है जो ज्यादातर गाल के नीचे जबड़े के पास स्थित पेरोटिड ग्रंथियों में संक्रमण के फैलने से होता है। ये ग्रंथियां लार बनाती हैं। संक्रमण के कारण इस रोग में गले में सूजन आ जाती है। ये लक्षण जल्दी नजर नहीं आते हैं। इस समस्या में गले और गर्दन में ज्यादा दर्द होता है। हालांकि, इसे घरेलू उपचार के जरिए ठीक किया जा सकता है।

कण्ठमाला के लिए घरेलू उपचार Home Remedies For Mumps Disease

कण्ठमाला में कारगर है प्याज का रस (Onion juice is effective in mumps)

कण्ठमाला की समस्या में प्याज सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है। प्याज का सिरप गले की सूजन को प्राकृतिक तरीके से ठीक करता है। इसके लिए प्याज को छोटे-छोटे टुकड़ो में काटकर मिक्सी में पीसकर सिरप तैयार कर लें। फिर गर्म पानी में दो चम्मच रस डाल कर पिएं। पीने के कुछ ही देर बाद इसका असर दिखने लगेगा और आपको दर्द में आराम मिलेगा।

नमक (Salt to remove the swelling of mumps)

कण्ठमाला की सूजन दूर करने में नमक भी काफी लाभकारी है। इसके लिए एक कप गर्म पानी में एक चुटकी नमक मिलाकर हर दो घंटे में गरारा करें। कुछ घंटे बाद सूजन में काफी आराम मिलेगा।

लहसुन (Garlic effective in mumps)

लहसुन में एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो बैक्टीरिया और वायरस को मारने में मदद करते हैं। कण्ठमाला की समस्या में लहसुन की एक छोटी सी कली लेकर अपने मुंह में रखकर धीरे-धीरे चूसे। इससे जल्द ही आराम मिल सकता है। हालांकि, इसे दिन में कई बार करना होगा।

अदरक (Ginger effective in kanthmala)

कण्ठमाला की समस्या में अदरक को काटकर उबाल लें। ठंडा होने के बाद इसमें नींबू और शहद मिला कर चाय की तरह दिन में कई बार सेवन करें। इसके साथ ही आप चाहें तो अदरक के टुकड़े को मुंह में रखकर चूस सकते हैं। दरअसल, अदरक गले के चारों ओर श्लेष्मा झिल्ली को शांत कर, सूजन को तुरंत राहत प्रदान करने में मदद करता है।

एप्पल साइडर विनेगर(apple cider vinegar in kanthmala), बैक्टीरिया के कारण होने वाली कण्ठमाला की सूजन के खिलाफ बहुत कारगर उपाय है। इसके लिए एक कप पानी में दो बड़े चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और थोड़ा सा शहद मिलाकर इस मिश्रण को दिन में दो बार पीने से भी इस समस्या में काफी आराम मिलता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj