Create

इब्स का होम्योपैथिक इलाज - IBS ka homeopathic ilaj

जानिए क्या है इब्स का होम्योपैथिक इलाज
जानिए क्या है इब्स का होम्योपैथिक इलाज

Homeopathic Treatment for IBS in hindi: इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (आईबीएस) या स्पैस्टिक कॉलन एक सामान्य आंतों के पथ की बीमारी है। जिसके चलते पेट से संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इसमें पेट में गैस, दस्त या कब्ज में तेज दर्द हो सकता है। इससे निजात पाने के लिए खान पान को ठीक रखने की सलाह दी जाती है। साथ ही दिमाग को शांत रखा जाए तो ये समस्या दूर हो जाती है। इसके साथ ही इसमें तरल पदार्थों का इस्तेमाल फायदेमंद होता है।

इब्स का होम्योपैथिक इलाज

इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम में सूर्यास्त के बाद भोजन नहीं करने की सलाह दी जाती है। इसके साथ ही देर रात तक फोन का प्रयोग न करे, किसी तरह की कोई तकलीफ है तो उसे घर-परिवार और दोस्तों के साथ शेयर करें ये दवा की तरह काम करेगी। क्योंकि, इसमें जो दवा दी जाती है वो चिंता को दूर करने के लिए दी जाती है। वहीं, इस बीमारी को हम होम्योपैथिक के जरिए भी ठीक कर सकते हैं।

पल्सेटिला (pulsatilla for IBS)

इब्स की समस्या होने पर होम्योपैथिक पल्सेटिला दवा देता है। दरअसल, यह दवा पवन फूल के रूप में जाने वाले औषधीय पौधे से तैयार की जाती है। ये गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट पर इसके उपचार प्रभाव के साथ इब्स के इलाज में प्रभावी है।

नक्स वोमिका (Nux vomica IBS Homeopathic Treatment)

होम्योपैथिक नक्स वोमिका को भी एक पौधे से ही तैयार करता है। इसका काम होता है पाचन और तंत्रिका तंत्र पर सकारात्मक प्रभाव डलना। जिसकी मदद से इब्स की समस्या जल्द खत्म हो सकती है।

सल्फर (Sulphur for IBS Treatment)

पाचन तंत्र को ठीक करने के साथ ही आंतों के गैस और कब्ज के लिए सल्फर बेहद ही लाभकारी साबित हो सकता है। इब्स की समस्या में होम्योपैथिक सल्फर का भी प्रयोग कर इसे ठीक करता है।

लाइकोपोडियम क्लावैटम (lycopodium clavatum in IBS)

इब्स की समस्या में ज्यादातर परेशानी पेट से जुड़ी होती है। जिससे कब्ज और पेट का गैस आम है। ऐसे में लाइकोपोडियम क्लावैटम दवा दस्त और पेट में बनने वाली गैस की समस्या को ठीक करने में मदद करता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment