Create

साइटिका के साथ कैसे बैठें - sciatica ke sath kaise baithe

साइटिका के साथ बैठने के बेहतरीन तरीके
साइटिका के साथ बैठने के बेहतरीन तरीके

How to sit with Sciatica in hindi: जब कमर से जुड़े नसों में सूजन ते चलते कमर और पूरे पैर में असहनीय पीड़ा होती है तो इसे साइटिका कहते हैं। यह न्यूरेलिया तंत्रिका में होने वाला एक दर्द है। इसमें साइटिका नर्व में कुछ कारणों के चलते दबाव पड़ता है जिसके चलते कमर और पैरों में दर्द होता है। इसमें सुन्नता भी महसूस होती है। साथ ही सोते और बैठते समय भी दर्द हो सकता है। ऐसे में साइटिका में सही तरीके से बैठना चाहिए जिससे कि दर्द न हो।

साइटिका में ये करने से बचे |Avoid doing this in sciatica

-साइटिका की समस्या में लंबे समय तक बैठने से बचना चाहिए।

-साइटिका में बीच-बीच में चहलकदमी करनी चाहिए

-साइटिका की समस्या में व्यायाम करना लाभकारी हो सकता है।

-इसमें दर्द की समस्या से बचने के लिए सही वजन बनाए रखना चाहिए।

साइटिका दर्द में कुर्सी के पीछे लगाएं तकिया (Put a pillow behind the chair in sciatica pain)

ऑफिस के कामों में अगर कुर्सी पर घंटों बिताते हैं तो इससे भी साइटिका दर्द बढ़ सकता है। इसके लिए कुर्सी में कमर के हिस्से के पास एक छोटा सा तकिया लगाने से काफी लाभ मिल सकता है। इसके अलावा सीधा बैठने की कोशिश करें। इससे साइटिका पेन से आराम मिल सकता है।

साइटिका में पीठ के पीछे लगाएं मोटा तकिया (Use a thick pillow behind the back in sciatica)

साइटिका में हो रहे दर्द की समस्या से बचने के लिए सोते समय अपनी पीठ के पीछे दो मोटा तकिया रखकर सोए। साथ ही पैरों को ऊपर उठाने के लिए एक हार्ड और समतल तकिया भी रखें ताकि पोजीशन ठीक रहे। इससे साइटिका दर्द से राहत पा सकते हैं और साथ ही अच्छी नींद भी आ सकती है।

बेड पर बैठते वक्त पीछे लगाए तकिया (pillow while sitting on the bed)

इस वक्त वर्क फ्रॉम होम का दौर चल रहा है। ऐसे में जो लोग साइटिका के दर्द से परेशान हैं और वर्क फ्रॉम होम करते वक्त बेड पर बैठ कर काम करते हैं तो तकिया आपके लिए कभी लाभ पहुंचा सकता है। दरअसल, बेड पर काम करते वक्त पीछे सपोर्ट के लिए एक सख्त तकिया लगा लें इससे आपकी पीठ सीध में रहेगी और दर्द से आराम मिलेगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment