Create
Notifications

वजन घटाने के लिए अपनाए इंटरमिटेंट फास्टिंग, जाने इसके 5 फायदे : Intermittent Fasting Benefits

वजन घटाने के लिए, इंटरमिटेंट फास्टिंग के 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
वजन घटाने के लिए, इंटरमिटेंट फास्टिंग के 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
Vineeta Kumar
visit

वजन बढ़ने से है परेशान? क्या आप भी कई डाइट, जिम, योग, व्रत करने के बाद भी नहीं घटा पा रहे है वजन? तो यह लेख आपके लिए है। पूरी दुनिया में लोग बढ़ते वजन या अतिरिक्त फैट की समस्या से परेशान हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय अपना रहे है, क्योंकि यह अतिरिक्त फैट की समस्या कई गंभीर बिमारियों का कारण भी बन सकती हैं। ऐसे में हम आपको Intermittent Fasting (IF) का सुझाव देने जा रहे है। तो चलिए जानते है के इंटरमिटेंट फास्टिंग क्या है? यह फास्टिंग करने का ऐसा तरीका है, जिसकी मदद से आप बिना किसी कमजोरी को महसूस किये अपना वजन आसानी से कम कर सकते हैं।

यह वजन कम करने का ऐसा तरीका है, जिसमें एक विशेष प्रकार का ईटिंग पैटर्न यानि खाने का तरिका होता हैं। इंटरमिटेंट फास्टिंग 3 प्रकार के ईटिंग विंडो में होती है जैसे - 18:6, 16:8, 14:10। आयुर्वेद भी इसका सुझाव देता है, इसमें आपको कुछ घंटे पौष्टिक खाना खा कर बाकी के कुछ घंटे भूखा रहना होता है। इस तरह की फास्टिंग को करने के लिए आपको एक शेड्यूल बनाना पड़ता हैं। उस शेड्यूल में आपको फूड खाने का समय और खाली पेट बिना कुछ खाये रहने का एक विशेष समय निर्धारित करना होता हैं। आइए इससे होने वाले फायदों के बारे में चर्चा करें।

वजन घटाने के लिए अपनाए इंटरमिटेंट फास्टिंग, जाने इसके 5 फायदे : Intermittent Fasting Benefits In Hindi

1. इंटरमिटेंट फास्टिंग (IF) फैट लॉस और वेट लॉस दोनों में मदद करती हैं और इसमें कम कैलोरी खायी जाती है जिससे मेटाबोलिजम बूस्ट होता हैं।

2. यह कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण रखने में सहायक हैं और इससे शरीर में इन्सुलिन लेवल कम होता है जिससे फैट लॉस में मदद मिलती हैं।

3. इंटरमिटेंट फास्टिंग से हृदय सम्बंधित बीमारियों पर नियंत्रण किया जा सकता हैं। इस तरह की फास्टिंग से ब्लड शुगर लेवल कम होता है और बॉडी डीटॉक्स करने में मदद मिलती हैं।

4. इंटरमिटेंट फास्टिंग से दिमाग की शक्ति बढ़ती है और साथ ही न्यूरोन्स की ग्रोथ होती हैं। यह शरीर में ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने में सहायक होती हैं और इससे शरीर के ग्रोथ हॉर्मोन्स में बढ़ोत्तरी होती हैं।

5. इंटरमिटेंट फास्टिंग से अल्जाइमर, हार्ट अटैक और सेल्युलर डैमेज जैसे रोग नही होते हैं।

इंटरमिटेंट फास्टिंग में क्या खाना चाहिए ? What To Eat During Intermittent Fasting? In Hindi

इंटरमिटेंट फास्टिंग एक ऐसी विधी है, जिसमें खान-पान पर किसी भी प्रकार की रोक नहीं होती हैं। इसमें केवल खाने का समय और भूखा रहने का समय निर्धारित होता हैं। खाने के दौरान आप सभी प्रकार की चीजें खा सकते हैं। ध्यान रहें, जब आप वजन कम करने का सोच रहे है तब आपको फैट और कार्बोहाइड्रेट वाले फूड्स का सेवन कम से कम करना चाहिए। इसके अलावा आप नॉर्मल खाना जो आपके घरों में बनता है, उसे आसानी से खा सकते हैं।

इंटरमिटेंट फास्टिंग से वजन कैसे कम होता हैं ? How Does Intermittent Fasting Helps In Losing Weight? In Hindi

इंटरमिटेंट फास्टिंग में आप Fasting (भूखा रहना) और Eating (खाना) के समय के बीच उतार-चढ़ाव करते हैं। इस फास्टिंग की अलग-अलग तकनीक में आप एक अलग तरीके से खाना खाते हैं। जैसे – 16/8 मेथड जिसमे दिन के 16 घंटे भूखे रह कर 8 घंटे खाना हटा है। आपको बता दें कि फास्टिंग के दौरान आपका शरीर, जमा ग्लूकोज (Stored Glucose) का उपयोग करता हैं। और साथ में Energy प्राप्त करने के लिए जमा फैट (Stored Fat) को इस्तेमाल करता है और फैट को तोड़ता हैं और वजन घटने में सक्षम हो पाते है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now