Create

ज्यादा नमक खाने के 5 लक्षण : Jada Namak Khane Ke 5 Lakshan

(फोटो - sportskeeda hindi) ज्यादा नमक खाने के 5 लक्षण
(फोटो - sportskeeda hindi) ज्यादा नमक खाने के 5 लक्षण

खाने के स्वाद को रखने के लिए नमक बहुत अहम भूमिका निभाता है। साथ ही नमक (Salt) का सेवन सेहत (Health) के लिए जरूरी भी होता है। लेकिन नमक का अत्‍यधिक प्रयोग शरीर को नुकसान (Harm) भी पहुचा सकता है। नमक 40 प्रतिशत सोडियम और 60 प्रतिशत क्‍लोराइड से बना है। सोडियम और क्‍लोराइड शरीर में पानी और मिनरल्‍स को बैलेंस रखने का काम करते हैं। लेकिन अगर इसना अधिक सेवन किया जाए तो आगे चलकर इसकी वजह से शरीर को काफी नुकसान भी हो सकता है। जानते हैं ज्यादा नमक खाने के लक्षण।

ज्यादा नमक खाने के 5 लक्षण -

डिहाइड्रेशन होना - अगर कोई व्यक्ति अधिक नमक का सेवन करता हैं तो इससे शरीर में डिहाइड्रेशन के लक्षण दिखने लगते हैं। ज्यादा सोडियम (sodium) के सेवन से अधिक पसीना आ सकता है, पेशाब अधिक आता है, बहुत अधिक उल्टी और दस्त भी हो सकते हैं।

बीपी बढ़ना - बहुत अधिक नमक के सेवन से व्यक्ति को बीपी बढ़ने की समस्‍या हो सकती है। दरअसल, नमक के अधिक सेवन से रक्त प्रवाह में बहुत अधिक सोडियम आ जाता है जिसे पतला करने के लिए पानी हमारी कोशिकाओं से बाहर निकल जाता है। ऐसे में व्यक्ति को प्यास, मतली, उल्टी और कमजोरी आदि भी महसूस हो सकती है। वहीं ये बीपी बढ़ने के लक्षण हो सकते हैं।

इंफ्लामेशन होना - ज्यादा नमक खाने से व्यक्ति के शरीर में जगह जगह सूजन नजर आ सकती है जिसे एडिमा भी कहते हैं। बता दें, एडिमा मुख्य रूप से शरीर में बहुत अधिक नमक, सोडियम क्लोराइड के कारण होती है।

ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या - व्यक्ति के अधिक नमक और अतिरिक्त प्रोटीन (Protein) का सेवन मूत्र में कैल्शियम (Calcium) के उत्सर्जन को बढ़ा देता है। इसकी वजह से हड्डियों में कैल्शियम का क्षरण होने लगता है। इस तरह ज्यादा नमक ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षण को बढ़ा देता है। जिसकी वजह से हड्डियां कमजोर होने लगती हैं।

मांसपेशियों में दर्द की समस्या - ज्यादा नमक का सेवन व्यक्ति की मांसपेशियों में दर्द का कारण बनता है। यह व्यक्ति के शरीर में द्रव के स्तर को कंट्रोल करता है जो मांसपेशियों में दर्द का भी कारण बनता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment