Create

जीरा और अजवाइन के फायदे : Jeera Aur Ajwain Ke Fayde

जीरा और अजवाइन के फायदे (फोटो - sportskeeda हिन्दी)
जीरा और अजवाइन के फायदे (फोटो - sportskeeda हिन्दी)

जीरा (Cumin Seeds) और अजवाइन (Carrom Seeds), दोनों ही आम तौर पर हर रसोईघर में मिलतें हैं। जीरा और अजवाइन का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल मसालों के रूप में किया जाता है। इसकी पैदावार बंगाल, पंजाब, दक्षिण के प्रांतो में अधिक होती है। आयुर्वेद में इसके कई फायदे बताए गए हैं। जीरा और अजवाइन की एक खासियत है कि यह सौ प्रकार के अन्न को पचाने में सक्षम होते हैं। जीरा-अजवाइन का पानी इस स्तिथि में बहुत उपयोगी रूप से सहायता करता हैं एवं वजन घटाने में मदद करता है। जीरा और अजवाइन में कैल्शियम, सोडियम, थाइमिन, आयोडीन, टेनिन, आदि होते हैं। जीरे और अजवाइन की खुशबू भी बहुत अच्छी होती है। लेकिन बहुत कम लोगों को जीरा और अजवाइन से होने वाले फायदों के बारे में पता है। आइए जानते हैं जीरा और अजवाइन के कुछ फायदे :-

जीरा और अजवाइन के फायदे : Jeera Aur Ajwain Ke Fayde In Hindi

जीरा (Cumin seeds) के फायदे :-

1. जीरा का पानी खाली पेट पीने से वजन को कम या नियंत्रित करने में मदद मिलती हैं और पेट की समस्याओं से भी छुटकारा मिल सकता हैं।

2. यदि आपको बाल झड़ने की समस्या है, तो जीरा मिलाकर तेल को बाल में नियमित रूप से लगाएँ। आपको जल्द हीं फर्क नजर आने लगेगा।

3. अगर आप ओलिव आयल (Olive oil) का उपयोग करते हैं, तो उसमें जीरा मिला सकते हैं इससे बालों को ज़्यादा पोषण मिलेगा।

4. अगर आपको खुजली की समस्या रहती है, तो थोड़े पानी में जीरा उबाल लें, फिर उसे छानकर नहाने वाले पानी में मिलाकर नहा लें। इससे खुजली की समस्या कम हो जाएगी।

5. आप अपने फेस-पैक (Face-pack) में चुटकी भर जीरा मिलाइए, इससे आपकी त्वचा का कसाव (स्किन टाइटनिंग) और निखार बढ़ेगा। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि जीरा नाममात्र हीं मिलाएँ, ज्यादा जीरा मिलाने से यह आपकी त्वचा को नुकसान पहुँचा सकता है।

अजवाइन (Carrom seeds) के फायदे :-

1. गैस और कब्ज की समस्या किसी को भी हो सकती है। ऐसे में अजवाइन इस समस्या के लिए असरदार साबित हो सकती है। अजवाइन खाने को पचाने में भी मदद कर सकती है, जिससे कि कब्ज की समस्या को दूर रखा जा सकता है और मल त्याग करने में आसानी हो सकती है।

2. अस्थमा जैसे श्वसन तंत्र की समस्या से राहत दिलाने में भी अजवाइन के लाभ दिखाई दे सकते हैं। अजवाइन में एंटीअस्थमा प्रभाव होता है, जिसका सकारात्मक प्रभाव श्वसन प्रणाली पर पड़ता है। इससे अस्थमा की समस्या से कुछ राहत मिल सकती हैं।

3. अजवाइन के बीज में लगभग 50% थाइमोल मौजूद होता है, जिसे मुख्य तौर पर एंटीबैक्टीरिया के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा, थाइम शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) को भी बढ़ाने का काम कर सकता है, जिससे जुकाम, फ्लू और अन्य वायरल इन्फेक्शन को दूर रखा जा सकता है।

4. अजवाइन खाने का फायदा डायरिया से राहत दिलाने के लिए भी देखा जा सकता है। अजवाइन में एंटी-डायरिया प्रभाव भी पाए जाते हैं, जो इस समस्या से निजात दिलाने में सहायक साबित हो सकते हैं।

5. अर्थराइटिस (गठिया) और जोड़ों में दर्द से निजात दिलाने में अजवाइन लाभकारी हो सकती है। अर्थराइटिस से जुड़ी समस्या से राहत दिलाने के लिए अजवाइन में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव मदद कर सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment