काजू खाने के फायदे और नुकसान : Kaju Khane Ke Fayde Aur Nuksan

काजू खाने के फायदे और नुकसान  (फोटो - myupchar)
काजू खाने के फायदे और नुकसान (फोटो - myupchar)

हर किसी को ड्राई फ्रूट्स का सेवन जरूर करना चाहिए। सेहत के लिए लाभकारी होता है। वहीं बात अगर ड्राई फ्रूट्स की हो रही है और काजू का जिक्र न हो, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। काजू का इस्तेमाल सिर्फ खाने भर तक सीमित नहीं है, बल्कि इसका प्रयोग शरीर की कई समस्याओं से निजात दिलाने के लिए किया जा सकता है। जानते हैं काजू खाने के फायदे और नुकसान।

काजू खाने के फायदे – Benefits of Cashew Nuts in Hindi

हृदय स्वास्थ्य के लिए - काजू शरीर के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। हृदय के स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए भी काजू महत्वपूर्ण माने जाते हैं। इनमें बायोएक्टिव मैक्रोन्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं, जो हृदय को स्वस्थ रखने का काम कर सकते हैं

कैंसर - कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए काजू मददगार हो सकता है। दरअसल, काजू के अर्क में एनाकार्डिक एसिड पाया जाता है। एनाकार्डिक एसिड कैंसर मेटास्टेसिस (शरीर में कैंसर फैलने की प्रक्रिया) को रोकने में मदद कर सकता है।

गर्भावस्था के लिए - काजू में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो गर्भावस्था में महलिाओं के लिए आवश्यक हो सकते हैं। जैसे इसमें पाया जाने वाला कैल्शियम और मैग्नीशियम। कैल्शियम गर्भवती महिला के स्वास्थ के साथ ही भ्रूण की हड्डियों के विकास के लिए जरूरी होता है । मैग्नीशियम जन्म के समय शिशु के वजन में कमी और गर्भवती के रक्तचाप को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

काजू खाने के नुकसान – Side Effects of Cashew Nuts in Hindi

अधिक सोडियम - काजू में सोडियम की मात्रा पाई जाती है। अगर आप जरूरत से ज्यादा काजू खाते हैं, तो शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है, जिससे उच्च रक्तचाप, स्ट्रोक और हृदय से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं।

वजन बढ़ता है - काजू में कैलोरी मात्रा अधिक होती है। वैसे ताे कैलोरी स्वास्थ के लिए ठीक है, लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से आपका वजन बढ़ सकता है।

गैस की समस्या - काजू में फाइबर पाया जाता है। फाइबर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन काजू के रूप में बहुत ज्यादा फाइबर का सेवन पेट में सूजन और गैस का कारण बन सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment