करेले के पत्ते का उपयोग-Karele Ke Patte Ka Upyog

करेले के पत्ते का उपयोग(फोटो-Sportskeeda hindi)
करेले के पत्ते का उपयोग(फोटो-Sportskeeda hindi)

करेला (Karela) का सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। करेला का स्वाद थोड़ा कड़वा होता है, इसलिए इसका सेवन ज्यादातर लोगों को पसंद नहीं आता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, जितना करेला स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है, उससे ज्यादा करेले के पत्ते स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। करेले के पत्ते में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जिससे कई बीमारियों को खत्म किया जा सकता है। इसके सेवन से खून साफ होता है। जानिए करेले के पत्ते का किन बीमारियों में उपयोग किया जाता है।

करेले के पत्ते का उपयोग (Karele Ke Patte Ka Upyog In Hindi)

शुगर लेवल होता है कंट्रोल

करेले की पत्तियां डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है। करेले की पत्तियों के सेवन से शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को करेले की पत्तियों का सेवन करना चाहिए।

पेट में कीड़े की समस्या होती है खत्म

पेट में कीड़े (worms in stomach) को खत्म करने के लिए करेले की पत्तियों काफी लाभदायक साबित होती हैं। अगर किसी के पेट में कीड़े की शिकायत हो, तो उसे करेले की पत्तियों का पाउडर बनाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

खून होता है साफ

करेले की पत्तियों का सेवन करने से खून साफ (Blood Purifier) होता है। एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए खून का साफ होना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि खून में गदंगी के कारण कई बीमारियां हो सकती है। इसलिए खून को साफ करने के लिए करेले की पत्तियों का सेवन करना चाहिए।

त्वचा के लिए फायदेमंद

करेले की पत्तियों के सेवन से न कि सिर्फ स्वास्थ्य को लाभ पहुंचता है, बल्कि यह स्किन (Skin) के लिए भी फायदेमंद मानी जाती है। इसके सेवन से त्वचा पर ग्लो आता है। साथ ही त्वचा संबंधी बीमारी जैसे पिंपल्स और झुर्रियों की शिकायत भी दूर होती है।

हाई ब्लड प्रेशर होता है कंट्रोल

करेले की पत्तियों में पोटैशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए यह हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) वाले मरीजों के लिए काफी लाभदायक साबित होती है। अगर हाई ब्लड प्रेशर वाला मरीज करेले की पत्तियों का सेवन करता है, तो इससे उसका ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava