खून की नसों में फंसे खराब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकाल देंगी ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां : Kharab Cholesterol Bahar Nikalne Ke Liye 5 Ayurvedic Jadi Buti

खून की नसों में फंसे खराब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकाल देंगी ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां (फोटो - sportskeeda hindi)
खून की नसों में फंसे खराब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकाल देंगी ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां (फोटो - sportskeeda hindi)

हर किसी के शरीर को कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की जरूरत होती है। कोलेस्ट्रॉल शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और किसी का भी शरीर इसके बिना काम नहीं कर सकता। दरअसल यह अच्छा कोलेस्ट्रॉल होता है, जो शरीर के लिए जरूरी है। लेकिन अगर शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाए तो यह शरीर के लिए खतरनाक होता है। खून में बढ़ा खराब कोलेस्ट्रॉल आपको हृदय रोगों के खतरे में डाल सकता है। जानते हैं खराब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकालने के तरीके।

खून की नसों में फंसे खराब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकाल देंगी ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां : Kharab Cholesterol Bahar Nikalne Ke Liye 5 Ayurvedic Jadi Buti In Hindi

आंवला - कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए आंवला खाना लाभकारी होता है। आप इसे जूस या पाउडर के रूप में ले सकते हैं। आंवला खराब कोलेस्ट्रॉल को दूर करता है।

जीरा, धनिया और सौंफ - इन जड़ी बूटियों का लाभ उठाने के लिए इनकी चाय पिएं। सौंफ और जीरा का सेवन आप माउथ फ्रेशनर या भोजन के बाद खा सकते हैं। वहीं आप इन्हें गर्म पानी में मिलाकर भी पी सकते हैं। इससे खराब कोलेस्ट्रॉल की समस्या दूर होती है।

लहसुन - शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल दूर करने के लिए लहसुन की एक कली को खाली पेट खाने से लाभ मिलता है। यह कोलेस्ट्रॉल के साथ-साथ बीपी को कम करने में भी मदद करता है।

नींबू - नींबू में विटामिन सी सहित वो सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर के बेहतर कामकाज के लिए जरूरी होते हैं। इसे गर्म पानी में या तो खाली पेट या भोजन के एक घंटे बाद लें। इससे खराब कोलेस्ट्रॉल की समस्या कम होगी।

अदरक - इसे आपकी हर्बल चाय में पीसकर दिन में एक या दो बार सेवन किया जा सकता है। सोंठ के चूर्ण को सुबह शहद के साथ या पानी में उबालकर दिन भर सेवन किया जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan