गुर्दो में जलन का 5 उपचार - Gurdo me jalan ka 5 upchar

ये है गुर्दो में जलन का 5 उपचार
ये है गुर्दो में जलन का 5 उपचार

kidney burn treatment in hindi: जब हम अपने खानपान पर सही से ध्यान नहीं देते हैं तो किडनी से जुड़ी समस्याओं के होने की संभावना अधिक रहती है। साफ पानी का चुनाव करना बेहद जरूरी होता है वरना गंदे पानी के सेवन से किडनी से जुड़ी गंभीर बीमारी हो सकती है। आमतौर पर किडनी में जलन, संक्रमण या दर्द तब होती है जब बैक्टीरिया आपके मूत्राशय से एक या दोनों गुर्दों में पहुंच जाते हैं, कई बार किडनी में पथरी के कारण भी दर्द होने लगता है। ऐसे में कुछ घरेलू उपचार के जरिए इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

गुर्दो में जलन का 5 उपचार

खूब पीएं पानी (increase the water intake)

किडनी से जुड़ी समस्याओं का सबसे पहला उपचार पानी है। इसमें खूब पानी पीने की सलाह दी जाती है। पानी के सेवन से संक्रमण मूत्राशय के रास्ते बाहर निकल जाता है। पानी के सेवन से आप हाइड्रेट रहेंगे और साथ ही बैक्टीरिया भी खत्म होगा। पानी हमेशा से एक बेहतर विकल्प माना गया है क्योंकि, इससे जलन कम होती है। नियमित रूप से एक दिन में कम से कम 8 से 9 गिलास पानी पीने से लाभ मिलेगा।

प्रोबायोटिक्स (Probiotics)

प्रोबायोटिक्स आपकी आंत में बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने के साथ ही खत्म करने में मदद करेंगे। इससे आपकी इम्यून सिस्टम मजबूत होगी। किडनी में जलन की समस्या होने पर नियमित रूप से प्रोबायोटिक्स लेने से लाभ मिलता है।

क्रैनबेरी रस (cranberry juice for kidney)

गुर्दे में जलन की समस्या या फिर दर्द होने पर क्रैनबेरी के जूस का सेवन करना चहिए। इससे दर्द में काफी आराम मिलता है।

सेब का सेवन (Benefits of apple in kidney burn)

सेब के सेवन से गुर्दे की समस्याओं से राहत मिलता है। सेब खाने से जीवाणु संक्रमण फैलने की संभावना कम हो जाती है। इसके साथ ही सूजन को दूर कर दर्द से राहत दिलाने में भी सेब लाभकारी है।

ग्रीन टी (Green Tea for kidney)

ग्रीन टी को ज्यादातर लोग वजन कम करने के लिए सेवन करते हैं। लेकिन, ये आपकी किडनी से भी जुड़ी समस्याओं को खत्म करती है। दरअसल, ग्रीन टी आपके खून से यूरिक एसिड की मात्रा को कम करती है। इसके साथ ही ये गुर्दे में हो रही जलन की समस्या को भी दूर करती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।