Create

लू का घरेलू उपचार : Lu Ka Gharelu Upchar

लू का घरेलू उपचार (source - sportskeeda hindi)
लू का घरेलू उपचार (source - sportskeeda hindi)

गर्मी के दिनों में गर्म हवा और बढ़े हुए तापमान के कारण लू (Heatstroke) का खतरा बढ़ जाता है। वैसे तो लू से बचने के लिए आप खुद सर्तक रहते हैं, लेकिन फिर भी इन सबके बावजूद आपको लू लग जाए या फिर आप हल्का बुखार महसूस करें तो हमारे द्वारा बताए जा रहे घरेलू उपायों की मदद से लू से बचा जा सकता है। जैसे-जैसे गर्मी चरम पर पहुंचती हैं, लोग लू का शिकार होने लगते हैं।

हीट स्ट्रोक, सनस्ट्रोक सूरज की गर्मी के ज्यादा संपर्क में रहने से और शरीर की थर्मोसेटिंग में असंतुलन के कारण होता है। दरअसल, शरीर का ठंडा तंत्र पसीने के रूप में पानी के वाष्पीकरण पर निर्भर करता है। ठंडी हवा का सबसे अच्छा प्रभाव शुष्क हवा में देखा जाता है, लेकिन नम हवा के मामले में पसीना मुश्किल से इवेपोरेट (evaporate) होता है, इसी के कारण शरीर के तापमान में वृद्धि होती है और व्यक्ति हीट स्ट्रोक या सनस्ट्रोक या लू की चपेट में आ जाता है। इसलिए इस तरह के गंभीर परिणामों से बचने के लिए डॉक्टर घरेलू उपचार का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

लू का घरेलू उपचार : Lu Ka Gharelu Upchar In Hindi

गर्मी में लू से बचने के लिए अपने शरीर को ठंडा रखना बेहद जरूरी है, ताकि शरीर जल्द से जल्द नॉर्मल टेम्परेचर पर पहुंच सके। लू से बचने के लिए घरेलू उपचार काफी प्रभावी साबित होते हैं। नीचे बताए जा रहे कुछ घरेलू उपचार गर्मी में लू से आपको बचाने में बहुत काम आएंगे।

प्याज का रस (Onion juice)

प्याज का रस हीट स्ट्रोक के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है। यह आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा सुझाई गई पहली चीज है। आपको बस इस रस में से कुछ को अपने कानों के पीछे या छाती पर लगाना है। यह आपके शरीर के तापमान को कम करने में मदद करेगा। आप कच्चे प्याज को चटनी के साथ या सलाद में भी खा सकते हैं।

नारियल पानी या छाछ (Coconut water or buttermilk)

ये दोनों ड्रिंक्स प्राकृतिक रूप से हीट स्ट्रोक के इलाज में मददगार हो सकते हैं। छाछ प्रोबायोटिक्स और आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होती है जो अत्यधिक पसीने के कारण आपके शरीर को होने वाले नुकसान की भरपाई करती है। नारियल पानी भी एक इलेक्ट्रोलाइट युक्त ड्रिंक है जो आपके शरीर को फिर से हाइड्रेट करता है, जिससे हीटस्ट्रोक का इलाज होता है।

इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक (Electrolyte drink)

जब आप बहुत अधिक पसीना बहाते हैं, तो आपका शरीर बहुत सारे इलेक्ट्रोलाइट्स खो देता है। उस नुकसान की भरपाई के लिए व्यक्ति को इलेक्ट्रोलाइट पेय दें। इसे बनाने के लिए एक गिलास पानी में थोड़ा सा बेकिंग सोडा मिलाएं। आप इसमें थोड़ा सा समुद्री नमक और फलों का रस भी मिला सकते हैं। इसे अच्छे से मिलाकर पी लें। इसे हर 10 मिनट के बाद नियमित रूप से लें।

धनिया और पुदीने के पत्तों का रस (Coriander and mint leaves juice)

धनिया और पुदीना ठंडी जड़ी बूटियां हैं जो आपके शरीर के तापमान को कम करके काम करती हैं। पुदीना और धनिया के पत्तों का रस निकाल लें और उसमें थोड़ी चीनी मिला लें। प्राकृतिक रूप से स्ट्रोक से राहत पाने के लिए इसे पिएं। आप रैशेज और गर्म खुजली वाली त्वचा पर भी धनिये का रस लगा सकते हैं।

एलोवेरा जूस (Aloe Vera juice)

एलोवेरा जूस में मौजूद विटामिन और मिनरल्स आपके शरीर को एडाप्टोजेन्स (adaptogens) देते हैं। यह अत्यधिक उच्च तापमान जैसे बाहरी परिवर्तनों के अनुकूल होने की शरीर की क्षमता में सुधार करता है। ये एडाप्टोजेन्स आपके शरीर के सिस्टम को स्थिर करते हैं। अत्यधिक गर्मी से राहत पाने के लिए आप एलोवेरा जेल भी लगा सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment