Create

सरसों के तेल के उपयोग, फायदे और नुकसान - Mustard Oil Uses, Benefits And Side-Effects

सरसों के तेल के उपयोग, फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिंदी)
सरसों के तेल के उपयोग, फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिंदी)

सदियों से ही सरसों के तेल (Mustard Oil) का उपयोग खाना पकाने के लिए किया जाता आ रहा है। सरसों के स्वास्थ्य लाभ के कारण सरसों के तेल को अधिक महत्व दिया जाता है। यह तेल शरीर की कई बीमारियों और त्वचा की समस्याओं को दूर करने में भी मदद करता है। सरसों का तेल मशीनों के माध्यम से सरसों के बीजों (Mustard Seeds) से निकाला जाता है। हमारे देश भारत में इसका प्रचलन ज्यादा है, यह प्रतिदिन इस्तेमाल किये जाने वाला तेल है। खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए महिलाएं सरसों के तेल का चयन करती है। इस लेख में हम सरसों के तेल के उपयोग (Uses), फायदे (Advantages) और नुकसान (Disadvantages) के बारे में बताने जा रहे हैं।

सरसों के तेल के उपयोग, फायदे और नुकसान - Mustard Oil Uses, Benefits And Side-Effects In Hindi

सरसों के तेल के फायदे : Benefits Of Mustard Oil In Hindi

- सरसों का तेल एंटी बैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट सूजन संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने का काम कर सकता है।

- सरसों के तेल के उपयोग से बालों के विकास में मदद मिल सकती है। इसके लिए सरसों के तेल में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड मदद कर सकते हैं। सरसों के तेल में एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल प्रभाव भी पाए जाते हैं, जो रूसी की समस्या को पनपने से रोक सकते हैं।

- सरसों के तेल का उपयोग जोड़ो के दर्द में, गठिया (arthritis) जैसी बीमारी होने पर, मांसपेशियों के दर्द में होता है। सरसों के तेल की मालिश करने पर शरीर के रक्त संचार में सुधार हो सकता है। सरसों के तेल में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड भी जोड़ों के दर्द और गठिया की समस्या में सहायक साबित हो सकता है।

- सरसों का तेल मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (MUFA & PUFA) के साथ-साथ ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड से समृद्ध होता है। यह बैड कोलेस्ट्रॉल (LDL) के स्तर को कम कर सकता है और शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) के स्तर को बढ़ा सकता है, जिससे हृदय रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है।

सरसों के तेल के उपयोग : Uses Of Mustard Oil In Hindi

1. सरसों के तेल का उपयोग खाने में तड़का देने के लिए होता है।

2. खाना चाहे शाकाहारी हो या मांसाहारी सरसों के तेल का इस्तेमाल दोनों ही तरह के भोजन में किया जा सकता है।

3. सरसों के तेल का उपयोग अचार बनाने में भी किया जाता है।

4. खाना चाहे देसी हो या विदेशी, सरसों का तेल उसका स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

5. त्वचा के रूखेपन को कम करने, बालों की शुष्कता के लिए सरसों के तेल का प्रयोग किया जाता है।

सरसों के तेल के नुकसान : Side-Effects Of Mustard Oil In Hindi

- सरसों के तेल में इरुसिक नाम का एसिड मौजूद होता है, जो हृदय को नुकसान पहुंचा सकता है। इरुसिक एसिड हृदय की मांसपेशियों में लिपिडोसिस (ट्राइग्लिसराइड्स का जमाव) का कारण बन सकता है और हृदय के टिशू को क्षतिग्रस्त कर सकता है।

- कुछ लोगों को त्वचा पर सरसों तेल के इस्तेमाल से एलर्जी हो सकती है। यदि एलर्जी होने के बाद त्वचा को हानि हो तो इसका उपयोग ना करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment