Create

व्रत के दौरान खाली पेट कभी न खाएं ये 5 चीजें- Vrat ke Dauuran Khali pet kabhi na Khayen ye 5 chizen

व्रत के दौरान खाली पेट कभी न खाएं ये 5 चीजें
व्रत के दौरान खाली पेट कभी न खाएं ये 5 चीजें

Never eat these 5 things on an empty stomach during fasting: व्रत के दौरान खान-पान में काफी बदलाव हो जाता है। खासकर नवरात्रि के दौरान खानपान में ज्यादा बदलाव हो जाता है क्योंकि, 9 दिनों तक उपवास के दौरान अन्न नहीं खाया जाता है। सिर्फ फलहार खाकर या कुछ अन्य व्रत की चीजों को खाकर रहा जाता है। इस दौरान कई चीजों का सेवन करना सेहत के लिए हानिकारक हो जाता है। क्योंकि, खाली पेट रहने से पेट में एसिड का लेवल बढ़ जाता है जिसके चलते कुछ चीजों को खाने से बचना चाहिए।

व्रत के दौरान खाली पेट कभी न खाएं ये 5 चीजें- Vrat ke Dauuran Khali pet kabhi na Khayen ye 5 chizen in hindi

चाय (Don't drink tea empty stomach during fasting)

व्रत के समय लोग ज्यादातर चाय का सेवन करते हैं। लेकिन, खाली पेट चाय पीने से पेट में जलन के साथ ही सिरदर्द की समस्या हो सकती है। इसलिए कहा जाता है कि, व्रत के दौरान खाली पेट चाय नहीं पीना चाहिए।

केला (Heartburn occurs due to eating banana during fasting)

व्रत के दौरान खाली पेट कभी भी केले का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि, केले में मैग्नीशियम मौजूद होता है जिसके चलते खाली पेट इसे खाने से सीने में जलन होने लगती है। इसके साथ ही कई लोगों को कब्ज की समस्या भी हो सकती है। ऐसे में कुछ खाने के बाद ही इसका सेवन करें।

दूध (Indigestion happens by drinking milk during fasting)

उपवास के वक्त खाली पेट दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। दूध में सैचुरेटेड फैट और प्रोटीन होते हैं जो मसल्स को कमजोर कर देते हैं। साथ ही इनडाइजेशन की समस्या भी हो सकती है।

दही (Curd increases acid level during fasting)

उपवास के दौरान अगर आप खाली पेट ही दही का सेवन कर रहे हैं, तो इससे आपको कई परेशानी हो सकती है। क्योंकि, दही में प्रोबायोटिक बैक्टीरिया होता है जो खाली पेट में एसिड के स्तर को बढ़ाता है और इसके चलते पेट में जलन हो सकती है।

मीठी चीजें (Sweet things increase sugar level)

व्रत के समय जिन्हें खाली पेट मीठी चीजें खाने की आदत है वो इसमें सुधार कर लें। क्योंकि, खाली पेट मीठी चीजों के सेवन से शरीर में शुगर का स्तर बढ़ जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment