Create

पत्थरचट्टा के फायदे और नुकसान 

पत्थरचट्टा के फायदे और नुकसान (फोटो-Sportskeeda hindi)
पत्थरचट्टा के फायदे और नुकसान (फोटो-Sportskeeda hindi)

पत्थरचट्टा एक तरह का आयुर्वेदिक पौधा है। जिसके कई सारे फायदे हैं। कई गुणों से भरपूर ये पौधा कई नामों से जाना जाता है। एयर प्लांट, कैथेड्रल बेल्स, लाइफ प्लांट और मैजिक लीफ जैसे और भी इसके कई सारे नाम हैं। आयुर्वेद में इसका उपयोग कई समय से किया जा रहा है। ये पौधा पेट की समस्याओं के लिए बहुत उपयोगी होता है साथ ही पत्थरचट्टा बहुत सी बीमारियों में लाभकारी होता है। तो आइए जानते हैं पत्थचट्टा के फायदे और नुकसान के बारे में।

पत्थचट्टा के फायदे Patharchatta Ke Fayde

हाई ब्लड प्रेशर के लिए फायदेमंद (Beneficial for high blood pressure) - हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी में आप पत्थरचट्टा के पत्तों के रस की 5 से 6 बूंद को पानी में मिलाकर खाली पेट पीने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में आराम मिलता है।

वेजाइनल इंफेक्शन में लाभकारी (Beneficial in vaginal infection) - अक्सर महिलाओं में वेजाइनल इंफेक्शन की परेशानी होती है उसमें खुजली होना, वेजाइनल डिस्चार्ज होना, सूजन, जलन ये सभी इसके लक्षण होते हैं। इससे निपटने के लिए पत्थरचट्टा के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीने से वेजाइनल इंफेक्शन में आराम मिलता है। इसका सेवन आप दिन में एक बार जरूर करें।

सूजन और दर्द में लाभदायक (Beneficial in inflammation and pain)- यदि आपको शरीर में सूजन बनी रहती है, तो आप इसकी पत्तियों को पीसकर लेप की तरह तैयार कर लें और इसे घाव, सूजन वाली जगह पर लगाएं। इससे सूजन और दर्द दोनों से आराम मिलेगा। इसी के साथ आप चर्म रोगों के लिए भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। आप इसे कभी भी लगा सकते हैं और इसे करीब 3 से 4 घंटे उस जगह पर लगा रहने दें।

किडनी को करे साफ (Clean the kidney) - इसके सेवन से किडनी की बहुत अच्छी तरह से सफाई हो सकती है। इसकी पत्तियों का काढ़ा बनाएं और उसका सेवन करें। इससे पेशाब का रुक-रुक कर आना, दर्द होना, जलन होना इन सभी समस्याओं को ठीक करता है।

पत्थरचट्टा के नुकसान Patharchatta Ke Nuksan In Hindi

ये जरूरी नहीं की हर चीज हर किसी को फायदे ही पहुंचाए। यदि आप पत्थरचट्टा का सेवन कर रहें हैं और आपक कुछ इस तरह के लक्षण दिखे, तब इसे तुरंत लेना बंद कर दें।

सीने में जलन होना (Heart burn)

खट्टी डकार आना (Acidity)

दस्त लगना (Diarrhea)

पेट में दर्द होना (Stomach ache)

जी मिचलाना या उल्टी (Nausea)

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
Be the first one to comment