Create

नाभि पर चंदन का तेल और लेप लगाने से दूर होती हैं ये समस्याएं : Nabhi Par Chandan Ka Tel Aur Lep Lagane Se dur Hoti Hain Ye Samasya

नाभि पर चंदन का तेल और लेप लगाने से दूर होती हैं ये समस्याएं(फोटो - sportskeeda hindi)
नाभि पर चंदन का तेल और लेप लगाने से दूर होती हैं ये समस्याएं(फोटो - sportskeeda hindi)

चंदन कई आयुर्वेदिक औषधीय गुणों से भरपूर होता है। चंदन के पेड़ का लगभग हर हिस्सा सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है। अधिकतर लोग चंदन के लेप का इस्तेमाल माथे पर तिलक या फिर चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी चंदन के लेप का इस्तेमाल नाभि पर किया है? चंदन का लेप नाभि पर लगाने से भी शरीर को कई फायदे हो सकते हैं। इसके अलावा नाभि पर चंदन का तेल भी लगाया जा रहा है। इससे शरीर की कई बीमारियां दूर हो सकती हैं। जानते हैं नाभि पर चंदन का लेप और तेल लगाने के फायदे।

नाभि पर चंदन का तेल और लेप लगाने से दूर होती हैं ये समस्याएं : Nabhi Par Chandan Ka Tel Aur Lep Lagane Se dur Hote Hain Ye Samasya In Hindi

छींक की समस्या से राहत - नाभि पर चंदन का लेप लगाने से बार-बार छींक आने की परेशानी से राहत पा सकते हैं। इस परेशानी से राहत पाने के लिए चंदन और धनिया की पत्तियों को पीस लें। इसके बाद आप इस पेस्ट को अपने नाभि के आसपास लगा लें।

ब्लड प्रेशर करे कंट्रोल - नाभि में चंदन का तेल डालने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल हो सकता है। साथ ही यह अनिद्रा की परेशानी से राहत दिलाने में प्रभावी हो सकता है।

सूजन की परेशानी करे दूर - नाभि में चंदन का लेप लगाने से शरीर की सूजन को कम किया जा सकता है। ऐसे में पहले चंदन की लकड़ी को पत्थर पर घिस लें। अब इस लेप को नाभि के पास लगाएं। इससे शरीर की सूजन को कम किया जा सकता है।

मुंहासे से राहत - बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों को मुंहासों की परेशानी काफी ज्यादा हो रही है। ऐसे में चंदन का लेप आपके लिए काफी प्रभावी हो सकता है। इसके लिए चंदन के लेप को नाभि के पास नियमित रूप से लगाने से मुंहासे और एक्ने की परेशानी दूर हो सकती है। साथ ही इससे त्वचा पर झाई की परेशानी को भी काफी हद तक कम किया जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment