Create

सरसों का साग खाने के फायदे : Sarson Ka Saag Khane Ke Fayde

सरसों का साग खाने के फायदे (फोटो - uttam news)
सरसों का साग खाने के फायदे (फोटो - uttam news)
reaction-emoji
Naina Chauhan

सर्दियों का मौसम आते ही लोग अपने खाने में हरी सब्जियों का उपयोग अधिक करने लगते हैं। ऐसा करना सही भी है, क्योंकि हरी सब्जियों के सेवन से शरीर को लाभ भी कई मिलते हैं। इन सब्जियों में शामिल सरसों का साग भी है। जो न केवल स्वाद के मामले में लज्जतदार है बल्कि सेहत से जुड़े कई फायदों से भरा है। इसमें मौजूद विटामिन्स, मिनिरल्स, फाइबर और प्रोटीन इसे बेहद फायदेमंद बनाते हैं।

आपको बता दें, सरसों के 100 ग्राम साग में 27 कैलोरी, 0.4 ग्राम फैट्स, 358 मिली ग्राम पोटैशियम, 4.7 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 3.2 ग्राम फाइबर, 1.3 ग्राम शुगर, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन बी 12, मैग्नीशियम, आयरन और कैल्शियम जैसे तत्व भरपूर मात्रा में मिलते है। जानते हैं सरसों का साग खाने के फायदे।

सरसों का साग खाने के फायदे : Sarson Ka Saag Khane Ke Fayde In Hindi

कैंसर की रोकथाम करता है - सरसों के साग में एंटीऑक्सीडेंट्स की भरपूर मात्रा होती हैं। इससे न केवल शरीर को डीटॉक्सिफाई करने में मदद मिलती हैं बल्कि शरीर की प्रतिरोधी क्षमता भी बढ़ती हैं। सरसों के साग का सेवन करने से ब्लैडर, पेट, ब्रेस्ट, फेफड़े, प्रोस्टेट और ओवरी के कैंसर से बचाव में मदद मिलती है।

हड्डियों को मजबूती देता है - सरसों के साग में कैल्शियम और पोटैशियम की अच्छी मात्रा होती हैं। इसके सेवन से हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद मिलती हैं। यह हड्डियों से जुड़े रोगों के उपचार में भी फायदेमंद माना जाता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाता है - आंखों की मासंपेशियों को किसी भी तरह की क्षति से बचाने के लिए सरसों का साग लाभकारी है। इसके सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ती है।

दिल के लिए फायदेमंद होता है - सरसों का साग के शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटता है और फोलेट का निर्माण अधिक होता है। इससे कार्डियोवास्कुलर रोगों की आशंका घटती है।

मेटाबॉलिज्म ठीक रखता है - सरसों के साग में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। इससे शरीर की मेटाबॉलिक क्रियाओं को नियंत्रित रखने में मदद मिलती हैं। इसके सेवन से पाचन भी अच्छी तरह होता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Naina Chauhan
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...