शुगर में आलू खाना चाहिए या नहीं - Sugar Me Aloo Khana Chaiye Ya Nahi

शुगर में आलू खाना चाहिए या नहीं ( फोटो - Sportskeeda hindi )
शुगर में आलू खाना चाहिए या नहीं ( फोटो - Sportskeeda hindi )

आलू एक ऐसी सब्जी है जिसे खाना सभी पसंद करते हैं।आलू (Potato) किसी भी सब्जी के साथ मिल जाता है और खाने में टेस्टी लगता है। लेकिन, मधुमेह के मरीजों को आलू का सेवन करना चाहिए या नहीं इसकी सही जानकारी बहुत कम लोगों को होती। दरअसल, आलू में कार्बोहाइड्रेट(Carbohydrate) और शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है, जो मधुमेह (diabetes) के मरीजों की सेहत के लिए सही नहीं रहता।

वैसे तो आलू में विटामिन बी6, पोटैशियम, कॉपर, विटामिन सी, मैंगनीज़, फ़ॉस्फ़ोरस, नियासिन, रेशेदार खाना और पैंटोथेनिक एसिड का अहम स्रोत है. उसमें कई तरह के फ़ाइटोन्यूट्रियेंट्स , एंटीऑक्सीडेंट भी पाए जाते हैं, लेकिन फिर भी डायबिटीज में मरीजों को आलू का सेवन नहीं रखना चाहिए। क्योंकि, ये शुगर लेवल को बढ़ाता है। तो आइए जानते हैं डायबिटीज में आलू का सेवन करना चाहिए या नहीं-

कार्बोहाइड्रेट और शुगर

जब कोई व्यक्ति खाना खाता है, तो भोजन में मौजूद कार्बोहाइड्रेट और शर्करा को शरीर चीनी में बदल देता है जिसे हम ग्लूकोज कहते हैं। ग्लूकोज ब्लड में जाता है और ब्लड शुगर को बढ़ाता है। जिस व्यक्ति को मधुमेह नहीं है उसका शरीर सही तरीके से इंसुलिन का उत्पादन और उपयोग करता है। इंसुलिन एक तरह का हार्मोन (Hormones) होता है जो ग्लूकोज (Glucose) को ऊर्जा उपयोग करने के लिए कोशिकाओं में प्रवेश करने की अनुमती देता है।

इसलिए मधूमेह के मरीजों को आलू न खाने की सलह दी जाती है, क्योंकि आलू में कार्बोहाइड्रेट की भरपूर मात्रा होती है जो व्यक्ति के ब्लड शुगर को बढ़ाती है।

टाइप 2 मधुमेह मरीज न खाएं आलू

जिन लोगों को टाइप 2 डायबिटीज होती है उन्हें आलू का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि, आलू में ग्लाइसेमिक (Glycemic) की मात्रा ज्यादा होती है और ये ब्लड शुगर कंट्रोल के लिए नुकसानदायक होता है। जिन लोगों को टाइप 2 डायबिटीज होती है उन्हें खाने पीने का ध्यान ज्यादा रखना चाहिए, क्योंकि अगर वह व्यक्ति रात में आलू का सेवन करता है, तो ग्लूकोज लेवल बढ़ सकता है। जो सेहत के लिए खतरा बन सकता है।

मधुमेह के मरीज अगर आलू खाना चाहते भी हैं, तो इसका सेवन उन्हें कम से कम करना चाहिए। अगर इसका सेवन सीमित मात्रा में करते हैं तो परेशानी नहीं होती।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki