Create
Notifications

ब्रेन स्ट्रोक के संकेत और 5 उपाय - Brain Stroke Ke Sanket Aur 5 Upay

ब्रेन स्ट्रोक के संकेत और उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
ब्रेन स्ट्रोक के संकेत और उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

मस्तिष्क में ऑक्सीजन ना पहुंचने या कमी होने के कारण ब्रेन स्ट्रोक की समस्या हो सकती है। दिमाग की नसों में खून का प्रवाह कम होना या नसों का खून सूखने की वजह से ब्रेन ढंग से काम करना बंद कर देता है तथा ऑक्सीजन और खून की कमी के कारण यह समस्या ब्रेन स्ट्रोक तक जा सकती है। ज्यादा समय तक मस्तिष्क में ऑक्सीजन और खून का दौरा नहीं पहुंच पाने से ब्रेन सेल्स व टिशू नष्ट होने या मरने लगते हैं। इसी कारण से मस्तिष्क ठीक तरह से काम नहीं करता और स्ट्रोक जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है। इस लेख के माध्यम से ब्रेन स्ट्रोक के संकेत और उपाय बताये गए हैं।

ब्रेन स्ट्रोक के संकेत और 5 उपाय

ब्रेन स्ट्रोक के संकेत : Signs of Brain Stroke In Hindi

↠ बोलने में या समझने में कठिनाई होना,

↠ अचानक धुंधला या साफ़ दिखाई देना,

↠ असहनीय सिरदर्द होना,

↠ अचानक चक्कर आना या बिना किसी स्पष्ट कारण के सिर घूमना,

↠ हाथों-पैरों में या पूरे शरीर में झनझनाहट होना या सुन्न हो जाना,

↠ कमजोरी और थकान महसूस करना

↠ खाना खाने और निगलने में कष्ट महसूस करना।

ब्रेन स्ट्रोक के लिए उपाय : Remedies For Brain Stroke In Hindi

1. हाई बीपी को नियंत्रित करना (should control blood pressure)

ब्रेन स्ट्रोक के जोखिम को कम करने के लिए ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करना सबसे जरूरी होता है। यदि आपको स्ट्रोक की समस्या हुई थी, तो अपने ब्लड प्रेशर को कम करके गंभीर स्ट्रोक की संभावना को भी कम करें। सही खान-पान से, सही वजन बनाए रखने से, तनाव को मैनेज करने से, व्यायाम करने से, सोडियम की नियमित मात्रा रखने से हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित किया जा सकता है।

2. खाने में कोलेस्ट्रॉल और वसा की मात्रा कम रखें (Eat food which is low in cholesterol and fats)

यदि हम खाने में कोलेस्ट्रॉल और वसा (fats) की मात्रा कम रखें तो स्ट्रोक का खतरा कम हो सकता है। फैट और कोलेस्ट्रॉल धमनियों में प्लाक बढ़ाते हैं , अगर आप अपने खान-पान में कोलेस्ट्रॉल और फैट के स्तर को नियंत्रित रखेंगे तो ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कम हो जायेगा।

3. धूम्रपान और अल्कोहल का सेवन बंद कर दें (Quit smoking and alcohol consumption)

तंबाकू खाने से, धूम्रपान करने से और अल्कोहल के सेवन से स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है। यह शरीर के लिए भी नुकसानदायक होते हैं।

4. मधुमेह को नियंत्रित रखें (Keep diabetes under control)

सही आहार लेना, व्यायाम करना, वजन नियंत्रित रखना आदि से मधुमेह यानी डायबिटीज को नियंत्रित रखना आसान हो जाता है। मधुमेह की बीमारी होने से स्ट्रोक का खतरा होता है। ऐसे में मधुमेह को नियंत्रित करना जरूरी है।

5. फलों और सब्जियों का सेवन करें (Eat fruits and vegetables)

फलों और सब्जियों के सेवन से विटामिन और मिनरल की कमी पूरी होती है। विटामिन और मिनरल की कमी पूरी होने पर नसों की ब्लॉकेज, ब्रेन स्ट्रोक, खून की कमी आदि का खतरा कम हो जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...