Create

क्या है स्लीप एपनिया, जानिये जल्दी आराम देने वाले उपचार : Sleep Apnea Home Remedies

क्या है स्लीप एपनिया के कारण और उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
क्या है स्लीप एपनिया के कारण और उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

'स्लीप एपनिया' एक गंभीर स्लीपिंग डिसऑर्डर है जो तब होता है जब नींद के दौरान किसी व्यक्ति का सांस लेना और रेस्पिरेटरी फंक्शन बाधित होता है। जो लोग इस बीमारी से अवगत नहीं हैं और अनुपचारित स्लीप एपनिया के साथ रहते हैं, नींद के दौरान कई बार सांस लेना बंद कर देते हैं, जो कभी-कभी सैकड़ों गुना तक चलता है। जब ऐसा होता है तो मस्तिष्क और स्लीप एपनिया के रोगी के शरीर को नींद के दौरान पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिलती है।

क्या है स्लीप एपनिया, जानिये जल्दी आराम देने वाले उपचार : Sleep Apnea Home Remedies In Hindi

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (OSA) In Hindi

स्लीप एपनिया नींद से संबंधित ब्रीदिंग डिसऑर्डर (श्वास विकार) है, इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति में सोने के दौरान बार-बार सांस बंद होती है। यह तब होता है जब गले की मांसपेशियां आराम करने और सोने के दौरान वायुमार्ग को ब्लॉक कर देती है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया से पीड़ित व्यक्ति खर्राटों की माध्यम से इसकी पहचान कर सकता है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया से साफ़ तौर पर कई जानलेवा बीमारियां हो सकती है। इससे कई क्रोनिक बीमारियां जैसे कि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या खतरनाक हो सकती है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया से ह्रदय का स्वास्थ्य भी खराब हो सकता है। स्लीप एपनिया से पीड़ित व्यक्ति का अगर इलाज न किया जाए तो इससे मृत्यु होने का खतरा बढ़ जाता है। जिन लोगों की गर्दन, जीभ और ऊपरी पेट में फैट जमा होता हैं, उनमे यह बीमारी होने की संभावना ज्यादा होती है। जमे हुए फैट का यह वजन गले के व्यास को कम कर देता है और फेफड़ों की तरफ धक्का देता है, इसलिए सोने के दौरान वायुमार्ग में बाधा आती है।

स्लीप एपनिया के लिए उपचार (Sleep apnea remedies) In Hindi

करवट होकर ही सोएं (Sleep on your side)

जब कोई व्यक्ति अपनी पीठ या पेट के बल सोता है तो उसमे स्लीप एपनिया की समस्या खतरनाक होती जाती है। इसलिए साइड स्लीपिंग जरूरी हो जाती है इससे वायुमार्ग खुला रहता है।

एक्सरसाइज (Exercise)

बिना वजन कम किये स्लीप एपनिया की समस्या से निजाद पाया जा सकता है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि नियमित रूप से एक्सरसाइज की जाए। किसी भी एक्सरसाइज प्रोग्राम को शुरू करने से व्यक्ति को डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

वजन कम करें (Weight Loss)

मोटापे की वजह से स्लीप एपनिया की समस्या ज्यादा होती है। अगर व्यक्ति का वजन स्वस्थ रहेगा तो उसमे स्लीप एपनिया होने की संभावना बहुत ही कम रहेगी।

धूम्रपान न करें (Avoid Smoking)

निकोटिन से स्लीप एपनिया की समस्या बदतर हो सकती है, इसीलिए धूम्रपान करने से बचें।

शराब और लत वाली दवाओं का सेवन बंद कर दें (Avoid Alcohol And Drugs)

शराब और लत वाली दवाएं नर्वस सिस्टम के ख़राब होने का कारण बनती है। इससे मस्तिष्क का काम प्रभावित होता है। इन चीजों के लगातार सेवन से स्लीप एपनिया के एपिसोड की फ्रीक्वेंसी और रात में होने वाले एपिसोड की संख्या में बढ़ोत्तरी होती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment