Create

Tadasana (ताड़ासन)

आसन के बारे में

ताड़ शब्द का इस्तेमाल अमूमन किसी चीज की लंबाई को बताने के लिए किया जाता है। इस आसन का मकसद लंबाई बढ़ाना और स्ट्रेचिंग करना है लेकिन इससे आपको कई प्रकार के लाभ मिल सकते हैं। एक बड़ी बात ये है कि इस आसन को करने से पहले आप चाहें तो हल्का फुल्का वार्मअप कर सकते हैं। इसके कोई नुकसान नहीं हैं तो ये एक ऐसा आसन है जो आपको सिर्फ लाभ ही प्रदान करने वाला है।


ताड़ासन नियम वर कैसे किया जा सकता हैयदि आप ध्यान देंगे तो इस आसन के बारे में या उससे पहले की जरूरी चीजों के बारे में कोई खास जानकारी नहीं प्रदान की गई है क्योंकि इस आसन का कोई नुकसान नहीं है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले तो जमीन या मैट पर खड़े हो जाएं। इसके बाद अपने हाथों को एकदम ढ़ीला छोड़ दें। आप ना तो हाथों में कोई प्रेशर दें और ना ही अपनी मुट्ठी को बंद करें।

अब अपने हाथों को आगे सामने की तरफ लाएं और एक इंटरलॉक लगा दें। इस स्थिति में आते ही आपके हाथों में एक खिंचाव महसूस होगा। इसके बाद आप अपनी एड़ियों को उठाएं और अपने पंजे की उँगलियों के सहारे ही शरीर का भार रोकने का प्रयास करें। इस मुद्रा में आपको अपने पैर एवं पंजे से लेकर हाथों तक एक खिंचाव महसूस हो रहा होगा। ये एक अच्छी स्थिति है और इस आसन को कम से कम दस बार जरूर करें।


youtube-cover



ताड़ासन के बाद कौन सा आसन करेंआप हल्का फुल्का वार्मअप करें और चाहें तो शवासन में खुद को ले आएं। इससे आपको काफी लाभ होगा क्योंकि एक खिंचाव के बाद शरीर को ऊर्जा एवं खून के दौडान को नियंत्रित करना होगा और वार्मअप उसमें मदद करेगा। शवासन आपको एक आराम वाली स्थिति में आने में मदद करेगा।


ताड़ासन से होने वाले लाभलंबाई बढ़ानी हो या फिर पीरियड्स से जुड़ी किसी परेशानी को ठीक करना हो, आप इन दोनों के लिए ताड़ासन का इस्तेमाल कर सकते हैं। शरीर को मजबूती प्रदान करने एवं टोन करने में ये आसन काफी लाभकारी है। अगर आपको साँस लेने में कोई परेशानी पेश आ रही थी या आपका पाचन सही से नहीं हो रहा था तो ये दोनों को ठीक करने में मददगार है। कब्ज के मरीजों को इसका इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इसके इस्तेमाल से आपकी कब्ज की परेशानी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।


ताड़ासन के दौरान बरते ये सावधानियाँइस आसन के नुकसान नहीं हैं लेकिन अगर आप किसी परेशानी से ग्रसित हैं तो उस स्थिति में आपको इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। नींद ना आने की बीमारी हो या फिर आपका ब्लड प्रेशर लो हो गया हो, इन दोनों ही स्थितियों में आपको इस आसन को नहीं करना चाहिए। सर के दर्द से परेशान रोगी एवं गर्भवती महिलाएं इस आसन को ना करें। ये आपके लिए ठीक नहीं है।





Comments

comments icon
Fetching more content...