Create
Notifications

टीबी के लक्षण-TB ke lakshan

टीबी के लक्षण ( फोटो- myupchar )
टीबी के लक्षण ( फोटो- myupchar )
Rakshita Srivastava
visit

टीबी यानि ट्यूबरक्लोसिस ( Tuberculosis) एक प्रकार का इंफेक्शन होता है, जो कि माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस बैक्टीरिया के कारण फैलता है। इस बीमारी का असर फेफड़ों (lungs) में होता है। लेकिन यह फेफड़ों से रक्त प्रभाव के साथ शरीर के अन्य भागों में भी फैलता है। इसलिए यह एक गंभीर बीमारी है।

यह बीमारी इसलिए भी खतरनाक मानी जाती है। क्योंकि कई बार इस बीमारी से रोगी की मौत भी हो जाती है। तो वहीं, इस बीमारी की चपेट में कोई भी व्यक्ति आ सकता है। जब इस बीमारी से पीड़ित कोई भी व्यक्ति खुले हवा में खांसता है और उसके किटाणु बाहर निकलते है तो वह किटाणु कई लोग को संक्रमित कर सकते हैं।

टीबी के लक्षण ( TB ke lakshan in hindi)

लगातार खांसी आना

अगर किसी व्यक्ति को तीने हफ्ते से लगातार खांसी बनी रहती है। साथ ही खांसी में बलगम आने की समस्या हो तो उनको टीबी का टेस्ट जरूर कराना चाहिए। क्योंकि टीबी की शुरूआत खांसी से ही होती है।

लगातार बुखार आना

अगर किसी व्यक्ति को तीन हफ्ते या उससे ज्यादा दिन से लगातार बुखार (Fever) आ रहा हो और साथ में सूखी खांसी( Dry cough) की भी समस्या हो तो उसको टीबी का टेस्ट जरूर कराना चाहिए। क्योंकि यह भी टीबी के एक लक्षण माने जाते हैं।

अचानक वजन कम होने लगना

अगर किसी व्यक्ति को भूख लगना अचानक से कम हो जाए और साथ ही उसका वजन भी अचानक तेजी से घटने लगे तो एक बार टेस्ट जरूर करवाएं।

रात में ज्यादा पसीना आना

काम करते समय पसीना होना तो एक आम बात है, लेकिन अगर किसी को बिना काम किये ही पसीना आ रहा हो और रात में ज्यादा पसीना आता हो तो उसको टीबी का टेस्ट जरूर कराना चाहिए।

सांस लेने में परेशानी होना

जिनको टीबी की शिकायत होती है उनको लगातार खांसी की समस्या बनी रहती है, जिसकी वजह से उनको सांस लेने में भी परेशानी शुरू हो जाती है।

कमजोरी महसूस होना

अगर किसी व्यक्ति को टीबी की शिकायत होगी तो उसको हमेशा कमजोरी (Weakness) महसूस होगी। बिना कोई काम किए भी व्यक्ति को थकान महसूस होने लगती है। क्योंकि लगातार बुखार और खांसी की वजह से रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है, जिसकी वजह से कमजोरी महसूस होने लगती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now