शुगर में बेहद फायदेमंद है यह काटों वाले फूल का हर्ब्स , आज ही करें इसके चूर्ण का सेवन 

शुगर में बेहद फायदेमंद है यह काटों वाले फूल का हर्ब्स , आज ही करें इसके चूर्ण का सेवन
शुगर में बेहद फायदेमंद है यह काटों वाले फूल का हर्ब्स , आज ही करें इसके चूर्ण का सेवन

शुगर (Sugar) के मरीज दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। जिस तरह से हमारी जीवनशैली ने करवट बदली है, उससे ये पता चलता है कि आखिर क्यों शुगर के मरीज बढ़ रहे हैं। शुगर की बीमारी के दौरान। लोग कई तरह के उपाय भी जरूर अपनाते हैं। लेकिन जैसा कि हम सभी जानते हैं कि प्रकृति हमारी हर बीमारी के लिए किसी न किसी तरह का पौधा या पेड़ जरूर देती है। जिससे कई बार गंभीर से गंभीर बीमारी को ठीक किया जा सकता है। हम बात कर रहें हैं, एक ऐसे ही काटे वाले फूल की जिसके उपयोग से शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। इस हर्ब्स का नाम है मिल्क थिसल। ये एक छोटा कांटेदार पौधा है, जिसमें बैंगनी रंग के फूल होते हैं। तो आइए जानते हैं ये फूल किस तरह से फायदे पहुंचाता है।

शुगर में बेहद फायदेमंद है यह काटों वाले फूल का हर्ब्स , आज ही करें इसके चूर्ण का सेवन - This thorny flower herb is very beneficial in sugar, consume its powder today itself in hindi

एनसीबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक एक इस फूल का चूर्ण, ब्लड शुगर को तुरंत कम करने में असरदार होता है। आयुर्वेद में मिल्क थिसल की बीज से लेकर इसके फूलों तक सभी का उपयोग दवाई बनाने के लिए किया जाता है।

इस फूल के उपयोग से पैंक्रियाज में इंसुलिन को एक्टिवेट करने काम करता है, जिसके कारण ब्लड शुगर बहुत जल्दी पच अब्सॉर्ब हो जाती है। डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों में यह रामबाण इलाज की तरह काम करता है। आपको बता दें कि बाजार में मिल्क थिसल Milk thistle कई रूपों में मिलता है। लेकिन नेचुरल मिल्क थिसल ज्यादा लाभदायक होता है।

इसके अलावा अगर बात की जाए इसके बीजों की, तो मिल्क थिसल के बीज का इस्तेमाल लिवर टॉनिक के रूप में करते हैं। इससे लिवर को साफ रखने में मदद मिलती है। मिल्क थिसल में कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, जो कैंसर, गठिया और यूरिक एसिड को कम करने में भी मददगार साबित होता है। साथ ही इसमें एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भी मौजूद है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki