चक्कर आने पर आज़माएं ये घरेलू उपाय!

Try This Home Remedies For Dizziness!
चक्कर आने पर आज़माएं ये घरेलू उपाय!

चक्कर आना एक परेशान करने वाला अनुभव हो सकता है, जिससे अक्सर हम असंतुलित और अस्थिर महसूस करते हैं। जबकि चक्कर आने के कई अंतर्निहित कारण हो सकते हैं, जिनमें आंतरिक कान की समस्याएं, निर्जलीकरण, या निम्न रक्त शर्करा शामिल हैं, ऐसे सरल घरेलू उपचार हैं जो लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं। चक्कर आने से निपटने और अपना संतुलन वापस पाने के लिए आज हम आपको कुछ आसान उपाय यहाँ बतायेंगे हैं।

निम्नलिखित इन उपचारों के बारे में जाने:

1. हाइड्रेटेड रहना:

चक्कर आने के पीछे निर्जलीकरण एक आम कारण है। सुनिश्चित करें कि आप पूरे दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पी रहे हैं, खासकर यदि आप शारीरिक गतिविधियों में लगे हुए हैं या गर्म वातावरण में समय बिता रहे हैं। हर्बल चाय, फलों से बना पानी या नारियल पानी भी इलेक्ट्रोलाइट्स की पूर्ति कर सकता है और आपके शरीर को प्रभावी ढंग से हाइड्रेट कर सकता है।

नारियल पानी!
नारियल पानी!

2. गहरी साँस लेने का अभ्यास करें:

गहरी साँस लेने के व्यायाम मस्तिष्क में ऑक्सीजन के प्रवाह को बढ़ाकर और तनाव को कम करके चक्कर आना कम करने में मदद कर सकते हैं। आरामदायक स्थिति में बैठें या लेटें, अपनी नाक से गहरी सांस लें, कुछ सेकंड के लिए रोकें और फिर अपने मुंह से धीरे-धीरे सांस छोड़ें। इस प्रक्रिया को कई बार तब तक दोहराएँ जब तक आप अधिक ज़मीनी और केंद्रित महसूस न करें।

3. अदरक की चाय:

अदरक को लंबे समय से इसके औषधीय गुणों के लिए सराहा गया है, जिसमें मतली और चक्कर को कम करने की क्षमता भी शामिल है। ताज़ी कद्दूकस की हुई अदरक को गर्म पानी में कुछ मिनटों के लिए भिगोकर एक कप सुखदायक अदरक की चाय तैयार करें। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें थोड़ा सा शहद और नींबू मिला सकते हैं। अपने पेट को शांत करने और चक्कर आने से राहत पाने के लिए इस गर्म मिश्रण को धीरे-धीरे पिएं।

4. स्थिर रक्त शर्करा स्तर बनाए रखें:

रक्त शर्करा के स्तर में उतार-चढ़ाव चक्कर आना और चक्कर आना जैसी भावनाओं में योगदान कर सकता है। अपने रक्त शर्करा को स्थिर करने में मदद के लिए, पूरे दिन नियमित, संतुलित भोजन और नाश्ते का विकल्प चुनें। स्थिर ऊर्जा स्तर बनाए रखने और रक्त शर्करा में अचानक गिरावट को रोकने के लिए अपने आहार में जटिल कार्बोहाइड्रेट, दुबला प्रोटीन और स्वस्थ वसा शामिल करें।

youtube-cover

5. अपनी स्थिति के प्रति सचेत रहें:

स्थिति में बदलाव, जैसे जल्दी से खड़े होना या लंबे समय तक लेटे रहना, चक्कर आने की समस्या को ट्रिगर कर सकता है, खासकर यदि आपको निम्न रक्तचाप या आंतरिक कान की समस्या है। चक्कर आने के जोखिम को कम करने के लिए बैठने, खड़े होने या लेटने के बीच अपना समय लें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा