Create

गिलोय जूस के उपयोग, फायदे और नुकसान - Giloy Juice Ke Upyog, Fayde Aur Nuksan

गिलोय जूस के उपयोग, फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
गिलोय जूस के उपयोग, फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

हाल ही में, गिलोय (Tinospora Cordifolia) के फायदों से दुनिया परिचित हुई है। चिकनगुनिया और डेंगू जैसी बीमारियों में गिलोय के जूस और पत्तियों के सेवन का सुझाव डॉक्टर्स देते आ रहे हैं। लेकिन क्या आप गिलोय से शरीर को होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं? गिलोय का हरा-भरा पौधा औषधियों का भंडार है। इसके अनेक औषधीय गुण हैं। गिलोय की पत्तियां प्रोटीन, कैल्शियम व फास्फोरस से भरपूर होती हैं, इसलिए गिलोय के पत्ते के भी कई फायदे हैं। गिलोय में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और कैंसर रोधी गुण भी होते हैं। इन्हीं गुणों के कारण से बुखार, पीलिया, गठिया, डायबिटीज, कब्ज़, एसिडिटी आदि से आराम दिलाती हैं। आइये इस लेख के माध्यम से गिलोय के जूस के उपयोग, फायदे और नुकसान के बारे में चर्चा करते हैं।

गिलोय जूस के उपयोग, फायदे और नुकसान - Giloy Juice Ke Upyog, Fayde Aur Nuksan In Hindi

गिलोय के उपयोग : Uses Of Giloy In Hindi

- गिलोय के तने और पत्तियों को पीसकर इसका जूस बना सकते हैं। इसके जूस की करीब 20 से 30ml खुराक दिन में दो बार लेने की सलाह दी जाती है।

- काढ़े के रूप में इसका इस्तेमाल 20ml तक दिन में दो बार किया जा सकता है। इसके लिए इसकी जड़ और तने को उबाल कर काढ़ा तैयार करना होगा।

गिलोय जूस के फायदे : Benefits Of Giloy Juice In Hindi

- रोग प्रतिरोधक क्षमता (Increases immunity) को बढ़ाने में गिलोय का जूस आपके बेहद काम आ सकता है। गिलोय के जूस में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी प्रभाव मौजूद होता है जो ना केवल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में उपयोगी है बल्कि व्यक्ति को कई बीमारी से दूर रखने में भी आपके काम आ सकता है।

- शरीर में खून की कमी यानी एनीमिया (Treats anemia) में बचाव के लिए गिलोय जूस लाभदायक है। आयरन के अवशोषण बढ़ावा देने के साथ-साथ ये एनीमिया की समस्या से राहत भी दिला सकता है। गिलोय ब्लड में रेड और सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ावा दे सकता है। इससे एनीमिया की समस्या में फायदा मिल सकता है।

- बवासीर (Cures piles) में गिलोय के लाभ देखे जा सकते हैं। गिलोय के जूस का सेवन बवासीर से राहत दिला सकता है। इसके औषधीय गुण खूनी बवासीर के इलाज में सहायक हो सकते हैं।

- गिलोय के औषधीय गुण में से एक यह भी है कि इससे पाचन संबंधी (Treats stomach related problems) कई समस्याओं जैसे कि डायरिया और दस्त से उबरने में मदद मिल सकती है। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि पाचन तंत्र को मजबूत करने में भी गिलोय जूस का उपयोग सहायक साबित हो सकता है।

गिलोय जूस के नुकसान : Side-Effects Of Giloy Juice In Hindi

- किसी भी चीज़ का अधिक सेवन नुकसानदेह हो सकता है।

- गिलोय का जूस ब्लड शुगर को कम कर सकता है, डायबिटीज की दवा लेने वाले इसका उपयोग कम या सावधानी से करें।

- वैसे तो गिलोय के जूस को पाचन शक्ति के लिए सहायक माना गया है, लेकिन गर्म तासीर के कारण इसकी अधिक मात्रा पेट से संबंधित जलन और गैस की समस्या का कारण बन सकता है।

- गर्भवती महिलाएं इसके सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment