लेरिन्जाइटिस क्या है, जानिये इसके लक्षण और उपचार 

लेरिन्जाइटिस क्या है, जानिये इसके लक्षण और उपचार
लेरिन्जाइटिस क्या है, जानिये इसके लक्षण और उपचार

लेरिन्जाइटिस (laryngitis) का मतलब है इन्फ्लेमेशन ऑफ वॉइस बॉक्स यानि की हमारे बोलने वाले स्वर पेटी में सूजन आना। ये समस्या इन्फेक्शन होने के कारण हो सकती है। जैसे बैक्टीरियल इंफेक्शन, वायरल इंफेक्शन और किसी किसी को फंगल इंफेक्शन के कारण भी हो सकता है। फंगल इंफेक्शन अक्सर उन लोगों में होता है, जो ब्रोंकाइटिस, अस्थमा के मरीज होते हैं और स्टेरॉयड फार्म का इस्तेमाल करते हैं। दूसरा इसका कारण ये भी हो सकता है कि जो लोग बहुत ज्यादा बात करते हैं। या ऊंचे स्वर में बोलते हैं, गाना गाते हैं, उन्हें भी वॉइस बॉक्स में सूजन आ सकती है। कई बार इसके पीछे पेट का बहुत ज्यादा खराब होना भी कारण हो सकता है। जिसे हम मेडिकल भाषा में एसिड रिफलक्स कहते हैं। इसमें पेट का एसिड गले में आता है और इसी केमिकल की वजह से वॉइस बॉक्स में सूजन आने लगती है।

लेरिन्जाइटिस को पहचानने के लिए जाने इसके लक्षण-

To recognize laryngitis, know its symptoms in hindi

आवाज में बदलाव आना

आवाज का नहीं निकलना

गले में दर्द रहना

गले में खिच खिच होना

सूखी खांसी होना, ये सभी इसके लक्षण होते हैं।

youtube-cover

इसके उपचार के लिए क्या किया जाना चाहिए - What should be done for its treatment

गले को आराम दें (relax the throat) - लेरिन्जाइटिस में गले को आराम देना चाहिए। क्योंकि इसमें गले में सूजन आ जाती है जिससे हमारी आवाज में परिवर्तन आता है। ऐसे में कोशिश करें कि कम से कम बोलें, या हो सके तो मौन व्रत रख लें। क्योंकि आप जितना कम बोलेंगे गले को उतना ज्यादा आराम मिलेगा और आप जल्दी ठीक हो सकेंगे।

गले को रखें हाइड्रेटेड (keep throat hydrated) - लेरिन्जाइटिस में गले में सूखापन लगने लगता है। यानि गला बहुत ज्यादा ड्राई हो जाता है। इसलिए इस दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें। और ऐसे फलों का सेवन करें जिसमें बहुत अधिक मात्रा में पानी हो। इससे आपका शरीर हाइड्रेटेड बना रहेगा और सूखेगा नहीं। साथ ही इस दौरान भूलकर भी गरारे न करें। क्योंकि पहले से ही आपका गला सूखता है और ऐसे में अगर आप गरारे करेंगे, तो और भी ज्यादा गला सूखने लगेगा जिससे खांसी की समस्या शुरू हो सकती है।

डॉक्टर को दिखाएं (see a doctor) - यदि इन सभी उपाय से भी आपका गला ठीक नहीं होता है, तो आप तुरंत किसी अच्छे ENT डॉक्टर को दिखाएं। क्योंकि कई बार गले में परेशानी किसी बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण भी हो सकता है। इसलिए इस बात का ध्यान रखें और ज्यादा समय तक इस परेशानी को ना बढ़ाएं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
App download animated image Get the free App now