Create

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए अपनाए योगासन - Cholesterol Kam Karne Ke Liye Apnay Yoga

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए अपनाए योगासन (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए अपनाए योगासन (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

'कोलेस्ट्रॉल' शब्द सुनते ही आपके दिमाग में क्या आता है? दिल का दौरा? मधुमेह? आघात? यदि हां, तो आप निशान से दूर नहीं हैं। ये सभी 'उच्च कोलेस्ट्रॉल' होने के संभावित जोखिम हैं। ज्यादातर मामलों में उच्च कोलेस्ट्रॉल एक चेतावनी संकेत है। लेकिन पहले, आइए एक कदम पीछे हटें, और जांच करें कि कोलेस्ट्रॉल क्या है। कोलेस्ट्रॉल एक तेल आधारित पदार्थ है जो आपके शरीर की कोशिकाओं में पाया जाता है। आपको वास्तव में कोलेस्ट्रॉल की आवश्यकता है - पाचन में सहायता के लिए और हार्मोन और विटामिन D बनाने के लिए। कोलेस्ट्रॉल सेल की दीवारों की संरचना में भी योगदान देता है। आपका रक्त आपके शरीर के माध्यम से कोलेस्ट्रॉल को लिपोप्रोटीन नामक छोटे पैकेजों के माध्यम से ले जाता है। कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन या LDL "खराब" कोलेस्ट्रॉल है। उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन या HDL "अच्छा" कोलेस्ट्रॉल है।

योग विभिन्न संबंधित मुद्दों को संबोधित करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। प्राणायाम, ध्यान और एक समझदार आहार के साथ योग आसन के नियमित अभ्यास से HDL और LDL को कम किया जा सकता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए अपनाए योगासन - Cholesterol Kam Karne Ke Liye Apnay Yoga In Hindi

शलभासन (Shalabhasana - The Locust Pose)

इस आसन में कंधों और भुजाओं पर जोर पड़ता है इसके अलावा पेट की मासपेशियों पर भी प्रभाव होने से पाचन प्रक्रिया बेहतर होती है।

चक्रासन (Chakrasana - Wheel Pose)

इस आसन के जरिए पेट से जुड़ी समस्याओं का निदान होता है। साथ ही ये लिवर को मजबूत करता है जिसके वजह से कॉलेस्ट्रॉल की समस्या पर काबू होता है।

कपालभाति (Kapalbhati - Breath Of Fire)

इस योगासन में श्वसन क्रिया के जरिए शरीर के टॉक्सिन बाहर निकलते हैं और मेटाबॉलिक रेट बढ़ने से वजन कम होता है। इसके अलावा ये पेट संबंधी विकारों को दूर करने में भी कारगर है। साथ ही पाचन क्रिया को भी मजबूत करता है।

सर्वांगासन (Sarvangasana -Shoulder Stand)

ये आसान हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने और मजबूत बनने में बेहद फायदेमंद होता है। बता दें कि इसे 'आसनों की रानी' भी कहा जाता है।

पशिमोत्तानासन (Pashimottanasana - Seated Forward Bend)

इस आसन से हमारे शरीर का मोटापा कम होता है। साथ ही ये पेट की जगह से अतिरिक्त वसा से छुटकारा दिलाता है।

अर्ध मत्स्येन्द्रासन (Ardh Matsyendrasan - Half Fishe Pose)

ये आसन लिवर को उत्तेजित करने और अपच के साथ मदद करने के अलावा, ये मुद्रा पेट के अंगों की भी मालिश करती है और आपकी रीढ़ को और अधिक कोमल बनाती है।

**इन योग आसनों को अपनाएं और समय के साथ आपको लाभ दिखाई देने लगेगा। इसके साथ ही जागरूकता के साथ सांस लेना या प्राणायाम योग का अनिवार्य अंग है। आप केवल अंदर और बाहर सांस लेने की शक्ति पर चकित होंगे!

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment