एशियन हॉकी चैंपियंस ट्रॉफी के सेमिफाइनल में टीम इंडिया, जापान को 6-0 से रौंदा

मनप्रीत सिंह की अगुवाई में भारत ने टूर्नामेंट में एक भी मुकाबला नहीं गंवाया।
मनप्रीत सिंह की अगुवाई में भारत ने टूर्नामेंट में एक भी मुकाबला नहीं गंवाया।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के अपने आखिरी राउंड रॉबिन मुकाबले में जापान को 6-0 से रौंदकर शानदार अंदाज में प्वाइंट टेबल टॉप किया है। मनप्रीत सिंह एंड कंपनी ने पूरे मैच में जापान के डिफेंस को भेदते हुए गोल किए। जीत के नायक रहे पिछले मैच के हीरो हरमनप्रीत जिन्होंने टीम को शुरुआती बढ़त दिलाई और कुल 2 गोल किए।

भारत ने शुरुआती 6 मिनट में 2 पेनेल्टी कॉर्नर जीते लेकिन दोनों बार टीम को विफलता मिली। 10वेंं मिनट में टीम ने फिर एक पेनेल्टी कॉर्नर जीता और हरमनप्रीत सिंह ने इसे गोल में तब्दील कर टीम को शुरुआती बढ़त दिलाई। दूसरे हाफ में 23वें मिनट में दिलप्रीत सिंह ने बेहतरीन अंदाज में फील्ड गोल किया। भारत ने जापान के दो मजबूत पेनेल्टी कॉर्नर रोकने में कामयाबी भी हासिल की। इसके बाद तीसरे क्वार्टर में जर्मनप्रीत सिंह ने गोल कर टीम की बढ़त को 3-0 कर दिया। चौथे क्वार्टर में टीम इंडिया ने तेज अटैक करते हुए तीन गोल दागे। सुमित (46 मिनट), हरमनप्रीत सिंह (53वां मिनट) और शमशेर सिंह (54वां मिनट) के स्टिक से टीम के लिए गोल आए।

राउंड रॉबिन मुकाबलों की समाप्ति पर प्वाइंट टेबल।
राउंड रॉबिन मुकाबलों की समाप्ति पर प्वाइंट टेबल।

इस जीत के साथ भारत ने इस टूर्नामेंट के राउंड रॉबिन की अंक तालिका में टॉप किया। एक अन्य मुकाबले में पाकिस्तान ने बांग्लादेश को 6-2 से हराकर टेबल में तीसरा स्थान हासिल किया । दक्षिण कोरिया दूसरे और जापान चौथे स्थान पर रहीं। ऐसे में 21 दिसंबर को भारत का सामना सेमिफाइनल में भी जापान से ही होगा। दूसरे सेमिफाइनल में पाकिस्तान की टीम दक्षिण कोरिया से भिड़ेगी। टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली टीम इंडिया से उम्मीद है कि वह इसी मैच की लय बरकरार रखते हुए जापान को मात देकर फाइनल में जगह बनाएगी और वहां भी खिताब जीतने में कामयाब रहेगी। पिछले मुकाबले में पाकिस्तान को हराने वाली टीम इंडिया के फैंस दूसरे सेमिफाइनल में पाकिस्तान की जीत की कामना भी कर रहे हैं ताकि फाइनल में भारत और पाकिस्तान का मुकाबला देखने को मिले। लेकिन तस्वीर 21 दिसंबर को ही साफ हो पाएगी। भारत और पाकिस्तान की टीमें 2018 के टूर्नामेंट की संयुक्त विजेता थीं।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़