सुरेंद्र कुमार ने बताई भारतीय हॉकी टीम की सफलता की प्रमुख ताकत

सुरेंद्र कुमार
सुरेंद्र कुमार

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के डिफेंडर सुरेंद्र कुमार का मानना है कि आगामी महीनों में लगातार मैच जीतने के लिए उनकी टीम की प्रमुख ताकत मजबूत डिफेंस रहेगी। सुरेंद्र कुमार ने कहा, 'अब जब हम अपना खेल उच्‍च स्‍तर पर बढ़ा रहे हैं तो हम इस साल बड़े टूर्नामेंट्स में अपने देश के लिए बेहतर प्रदर्शन करने को बेताब हैं। मेरे ख्‍याल से मजबूत डिफेंस पंक्ति हमारे लगातार मैच जीतने का महत्‍वपूर्ण पक्ष होगा।'

27 साल के सुरेंद्र कुमार ने आगे कहा, 'अगर हम सुनिश्चित करें कि हमारे विरोधी आसानी से गोल नहीं दागे सके तो हमारे फॉरवर्ड्स को मदद मिलेगी। वह उन पर दबाव बना सकेंगे और हमारे गोल करने के ज्‍यादा मौके बनेंगे।' राष्‍ट्रीय टीम के लिए 133 मैच खेल चुके सुरेंद्र कुमार ने अभिव्‍यक्‍त किया कि जनवरी में राष्‍ट्रीय कोचिंग शिविर में लौटने के बाद कोर संभावित ग्रुप के सदस्‍यों ने काफी सुधार किया है।

सुरेंद्र कुमार ने कहा, 'पिछले साल हमने अपनी फिटनेस पर ध्‍यान दिया और अपने पूरे फॉर्म में लौटे, जो हमने बेहतर ढंग से किया। इस साल जनवरी में जब हम राष्‍ट्रीय कोचिंग कैंप में लौटे तो हमने अपने खेल के स्‍तर को बढ़ाया। हमने एक-एक करके अपनी शैली पर काम किया और पिछले कुछ सप्‍ताहों में हमारा प्रदर्शन बहुत सुधरा है। भारतीय पुरुष हॉकी कोर संभावित ग्रुप अपने खेल के बारे में काफी अच्‍छा महसूस कर रहा है।'

कोविड-19 से ठीक हुए सुरेंद्र कुमार

सुरेंद्र कुमार ने बताया कि कोविड-19 की चपेट में आने के बाद मैदान पर वापसी करना मानसिक रूप से काफी चुनौतीपूर्ण था। हालांकि, सुरेंद्र कुमार ने कोविड-19 से पूरी तरह रिकवरी की और अब तरोताजा होकर मैदान पर अपना दम दिखाने के लिए तैयार हैं। सुरेंद्र उन छह हॉकी खिलाड़‍ियों में से एक थे, जो वायरस के टेस्‍ट में पॉजिटिव पाए गए थे। सुरेंद्र कुमार को दोबारा अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था।

रियो ओलंपिक्‍स में भारतीय टीम का हिस्‍सा रहे सुरेंद्र कुमार ने कहा, 'मैं खुद से कहता था कि दुनिया में कई लोगों ने इस वायरस से निजात पाई है, जिसमें कई शीर्ष खिलाड़ी भी शामिल हैं। मुझे भी इससे उबरना है। वह मुश्किल समय था। कोचिंग स्‍टाफ ने सुनिश्चित किया कि हम अच्‍छे स्‍पेस में रहे। मैं अब रूटीन प्रैक्टिस में आकर खुश हूं। मुझे अपनी फिटनेस पाकर अच्‍छा महसूस हो रहा है। मैं हॉकी इंडिया और साई का शुक्रगुजार हूं, जिनके कारण मेरी रिकवरी अच्‍छी तरह हो सकी।'

Quick Links