अर्जुन अवॉर्ड नहीं मिलने से निराश हुईं पूनम रानी

भारतीय महिला हॉकी टीम
भारतीय महिला हॉकी टीम

भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी पूनम रानी ने इस साल अर्जुन अवॉर्ड के लिए नहीं चुने पर निराशा जाहिर की और अपनी अनदेखी को लेकर सवाल भी दाग दिया। पूनम रानी ने एक न्‍यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा, 'मैं पिछले तीन सालों से अर्जुन अवॉर्ड की कोशिश कर रही हूं। मेरे सभी साथी खिलाड़‍ियों को अर्जुन पुरस्‍कार मिल चुका है, लेकिन मुझे हमेशा नजरअंदाज किया गया। मुझे बुरा लगा क्‍योंकि मैं उन खिलाड़‍ियों में से एक हूं, जिसने देश के लिए कड़ी मेहनत और बेहतर प्रदर्शन किया। अगर मेरी ऊपर जुगाड़ नहीं है, तो इसका मतलब यह नहीं कि मुझे अर्जुन अवॉर्ड से सम्‍मानित नहीं किया जाएगा।'

हॉकी खिलाड़ी दीपिका और अकाशदीप सिंह को इस साल अर्जुन अवॉर्ड के लिए चुना गया है। इस साल कुल 27 एथलीट्स को अर्जुन अवॉर्ड से सम्‍मानित किया जाएगा। इसके अलावा भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्‍तान रानी रामपाल को देश के सर्वोच्‍च खेल पुरस्‍कार राजीव गांधी खेल रत्‍न अवॉर्ड से सम्‍मानित किया जाएगा।

पूनम रानी ने चयन समिति पर लगाए आरोप

पूनम रानी का मानना है कि राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार चयन समिति उचित नहीं खेलती और वहां पक्षपात है। पूनम रानी ने कहा, 'मेरे ख्‍याल से वहां पक्षपात है और समिति उचित फैसले नहीं लेती क्‍योंकि पिछले तीन सालों में मेरे नाम की अनदेखी की जा रही है। टीम गेम में मेडल जीतना आसान काम नहीं है। जिन खिलाड़‍ियों को अवॉर्ड मिला, उनके लिए मैं खुश हूं, लेकिन समिति को अन्‍य खिलाड़‍ियों के नाम की सिफारिश भी करनी चाहिए।'

अर्जुन अवॉर्ड वो सम्‍मान है, जो खेल मंत्रालय एथलीट की उपलब्धि को पहचान दिलाने के लिए देता है। अवॉर्ड में नकद राशि, अर्जुन की एक कांस्य प्रतिमा और एक स्क्रॉल दी जाती है। पूनम रानी ने कहा, 'मेरे ख्‍याल से टीम गेम्‍स में अवॉर्ड की संख्‍या बढ़ाना चाहिए ताकि अच्‍छे खिलाड़‍ियों को अवॉर्ड्स मिले। मैं भी टीम की उन खिलाड़‍ियों में से एक हूं, जिसने कई टूर्नामेंट खेले। अन्‍य लोगों को अवॉर्ड मिला, लेकिन मुझे नहीं। मैं भी इस अवॉर्ड को पाने के योग्‍य हूं, मुझे क्‍यों नजरअंदाज किया गया?'

पूनम रानी के अलावा साक्षी मलिक भी कर चुकी हैं सवाल

पूनम रानी के अलावा भारत की महिला पहलवान साक्षी मलिक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खेल मंत्री किरेन रीजीजू से सवाल किया था कि अर्जुन अवॉर्ड के लिए उनकी अनदेखी क्‍यों हुई? साक्षी मलिक को 2016 में खेल रत्‍न से सम्‍मानित किया गया था, लेकिन इस साल उन्‍हें अर्जुन अवॉर्ड की लिस्‍ट से बाहर कर दिया गया। इससे नाराज साक्षी मलिक ने पूछा कि अर्जुन अवॉर्ड जीतने के लिए उन्‍हें कौन सा मेडल जीतना होगा? साक्षी ने कई तर्क देते हुए अर्जुन अवॉर्ड नहीं मिलने पर निराशा व्‍यक्‍त की है। अब पूनम रानी भी इस लिस्‍ट में शामिल हो गई हैं, जिन्‍हें सम्‍मान नहीं मिलने पर पक्षपात का आभास है और वह अपने नजरअंदाज किए जाने का स्‍पष्‍टीकरण चाहती हैं।

App download animated image Get the free App now