Create
Notifications

वर्ल्ड स्क्वॉश डबल्स चैंपियनशिप में 2 गोल्ड जीत भारत ने रचा इतिहास

अपने महिला डबल्स गोल्ड मेडल के साथ दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा।
अपने महिला डबल्स गोल्ड मेडल के साथ दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा।
Hemlata Pandey
visit

भारतीय स्क्वॉश खिलाड़ियों ने इतिहास रचते हुए ग्लासगो में संपन्न हुई WSF (World Squash Federation) वर्ल्ड डबल्स स्क्वॉश चैंपियनशिप में 2 गोल्ड मेडल अपने नाम किए। सौरव घोषाल, दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा ने इस जीत में अहम भूमिका निभाई। भारत ने मिक्स्ड डबल्स में और फिर महिला डबल्स के फाइनल में इंग्लैंड को हराकर पहली बार इस प्रतियोगिता में गोल्ड जीता। इतना ही नहीं भारत विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाला पहला एशियाई देश भी बन गया है।

Introducing your new World Champions! 🏆Congratulations to 🇮🇳 @indiasquash's @SauravGhosal and @DipikaPallikal, who have won the mixed doubles world championship title after beating 🏴󠁧󠁢󠁥󠁮󠁧󠁿 Waller and Waters 2-0 (11-6, 11-8)!#squash #india #WSFDoubles #Glasgow2022 https://t.co/k3x49mOeYm

भारत के लिए दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल ने मिक्स्ड डबल्स के फाइनल में इंग्लैंड के एड्रियन वॉलर और ऐलिसन वॉटर्स को 11-6, 11-8 से हराते हुए इस टूर्नामेंट के इतिहास का पहला गोल्ड भारत के नाम किया।

What's better than winning a Gold... winning 2! 🥇Special mention to @DipikaPallikal for the way she has returned to the sport.Well done @joshnachinappa & @SauravGhosal.#WSFDoubles https://t.co/vfyxHYenlO

मिक्स्ड डबल्स के बाद दीपिका ने जोशना चिनप्पा के साथ मिलकर महिला डबल्स का फाइनल भी खेला। इस फाइनल में भी उनका सामना इंग्लैंड की जोड़ी से हुआ। दीपिका-जोशना ने इंग्लैंड की नंबर दो वरीय साराह और जेन पेरी की जोड़ी को तीन सेट तक चले मैच में 11-9, 4-11, 11-8 से हराया। खास बात ये है कि भारतीय जोड़ी ग्रुप स्टेज में इंग्लैंड की जोड़ी से हारी थी, लेकिन फाइनल में जोशना-दीपिका ने उनपर पार पाने में कामयाबी हासिल की। दीपिका पल्लीकल क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की पत्नी हैं और पिछले साल अक्टूबर में ही जुड़वा बच्चों की मां बनी हैं। ऐसे में जिस अंदाज में उन्होंने दोनो फाइनल खेले हैं, वो काफी दमदार है। पुरुष डबल्स का गोल्ड इंग्लैंड के नाम रहा जिन्होंने फाइनल में स्कॉटलैंड की जोड़ी को हराया।

इस टूर्नामेंट से पहले भारत ने साल 2016 में मिक्स्ड डबल्स के फाइनल में जगह बनाई थी लेकिन वहां हार का सामना करना पड़ा था और साल 2004 में पुरुष डबल्स के फाइनल में भी सिल्वर मेडल जीता था। भारतीय खिलाड़ियों की ये जीत जुलाई में होने वाले बर्मिंघम कॉमनवेल्थ खेलों में काफी काम आएगी और स्क्वॉश में देश के नाम कुछ पदक जरूर आने की उम्मीद होगी।


Edited by निशांत द्रविड़
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now