ऑस्ट्रेलियन ओपन - एश्ली बार्टी बनी महिला सिंगल्स चैंपियन, पुरुष डबल्स भी ऑस्ट्रेलिया के नाम

44 साल बाद किसी ऑस्ट्रेलियाई महिला खिलाड़ी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन का सिंगल्स खिताब जीता।
44 साल बाद किसी ऑस्ट्रेलियाई महिला खिलाड़ी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन का सिंगल्स खिताब जीता।

दुनिया की नंबर 1 महिला टेनिस खिलाड़ी एश्ली बार्टी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन का महिला सिंगल्स का खिताब जीत लिया है। बार्टी ने फाइनल में अमेरिका की डेनियल कोलिन्स को 6-3, 7-6 से मात दी। ऐश्ली खुद ऑस्ट्रेलिया से हैं और 1978 के बाद अपने देश की सरजमीं पर इस खिताब को जीतने वाली दूसरी महिला बन गई हैं। बार्टी से पहले 1978 में ऑस्ट्रेलिया की क्रिस ओ नील ने ये खिताब अपने नाम किया था। यही नहीं पुरुष डबल्स का खिताब भी ऑस्ट्रेलिया के नाम रहा जहां निक किर्गियोस और थानासी कोकिनाकिस ने खिताब जीता।

बार्टी का दबदबा

एश्ली बार्टी ने महिला सिंगल्स के फाइनल में शुरुआत से ही अपना दबदबा बनाए रखा और पहला सेट आसानी से 6-3 से जीत लिया। दूसरे सेट में कॉलिन्स ने शुरुआत में अच्छा खेल दिखाया और एक समय 5-1 से आगे चल रहीं थीं, लेकिन कुछ अनफोर्स्ड एरर की वजह से आखिरकार कॉलिन्स सेट में पिछड़ गईं और जीता हुआ सेट बार्टी के सामने हार बैठीं।

एश्ली बार्टी के जीतने के बाद उनके बचपन की ये तस्वीर वायरल हो रही है।
एश्ली बार्टी के जीतने के बाद उनके बचपन की ये तस्वीर वायरल हो रही है।

बार्टी इससे पहले साल 2019 में फ्रेंच ओपन और पिछले साल विम्बल्डन का सिंगल्स खिताब जीत चुकी हैं। खास बात ये है कि पूरे टूर्नामेंट में बार्टी ने एक भी सेट नहीं गंवाया। बार्टी बचपन से ही खेलों में अव्वल रही हैं और प्रोफेशनल क्रिकेटर भी रह चुकी हैं। बार्टी को विजेता के रूप में 2.875 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानि करीब 21.5 करोड़ रुपए मिले जबकि उपविजेता कॉलिन्स को करीब 10.5 करोड़ रुपए की राशि मिली।

डबल्स में कंगारूओं की धूम

महिला सिंगल्स का खिताब ऑस्ट्रेलिया के नाम होने के बाद पुरुष डबल्स का फाइनल दोनों ऑस्ट्रेलियाई जोड़ियों के बीच खेला गया। निक किर्गियोस और कोकिनाकिस की वाइल्ड कार्ड जोड़ी ने एब्डन और पर्सेल को सीधे सेटों में 7-5, 6-4 से मात दी। 1997 के बाद पहली बार किसी ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी ने पुरुष डबल्स का ये खिताब जीता है। खास बात ये है कि किर्गियोस और कोकिनाकिस ने साल 2013 में विम्बल्डन का जूनियर डबल्स खिताब भी जीता था।