लिएंडर पेस की नजरें रिकॉर्ड आठवीं बार ओलंपिक्‍स में हिस्‍सा लेने पर

लिएंडर पेस
लिएंडर पेस

भारतीय टेनिस आइकॉन लिएंडर पेस ने शुक्रवार को कहा कि वह अगले साल टोक्‍यो गेम्‍स में हिस्‍सा लेने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, जो उनका रिकॉर्ड आठवां ओलंपिक होगा। 2019 के क्रिस्‍मस डे पर पेस ने घोषणा की थी कि 2020 उनका पेशेवर खिलाड़ी के रूप में आखिरी सीजन होगा। बस टोक्‍यो ओलंपिक्‍स इससे अलग होगा।

लिएंडर पेस ने एक प्रमोशनल इवेंट में कहा, 'हम में से किसी ने कल्‍पना भी नहीं की थी कि महामारी से इस तरह का असर पड़ेगा। इसने हम सभी को अंदर से सोचने पर मजबूर कर दिया है। मगर इस लंबे ब्रेक के बाद मुझे अच्‍छा महसूस हो रहा है। मुझे कोई शक नहीं कि शारीरिक, मानसिक और भावनात्‍मक रूप से मैं पूरी तरह तैयार हूं। मेरे लिए यह बहुत जरूरी है कि यह सुनिश्चित कर सकूं कि भारत का नाम इतिहास की किताबों में दर्ज रहे और इसलिए मैं अपना करियर 30 साल तक जारी रख रहा हूं।'

लिएंडर पेस के लिए उम्र महज आंकड़ा

जब टोक्‍यो ओलंपिक्‍स होगा तब लिएंडर पेस की उम्र 48 साल हो चुकी होगी। लिएंडर पेस ने कहा कि उम्र महज आंकड़ा है और उन्‍हें सबसे बड़ा प्रोत्‍साहन इस बात का है कि भारत का नाम हमेशा रिकॉर्ड बुक में दर्ज रहेगा। लिएंडर पेस ने कहा, 'सात ओलंपिक में हिस्‍सा लेकर मैंने रिकॉर्ड बना रखा है और मुझे प्रोत्‍साहन है कि इसे आठ ओलंपिक में तब्‍दील कर सकता हूं। मेरा विश्‍वास है कि भारत का नाम हमेशा इतिहास की किताबों में दर्ज रहे कि सबसे ज्‍यादा टेनिस में ओलंपिक्‍स किसने खेले। मुझे उम्‍मीद है कि टोक्‍यो आएगा, इवेंट संपन्‍न होगा।'

लिएंडर पेस ने कहा कि वह एक और मेडल जीतने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। पेस ने 1996 एटलांटा ओलंपिक्‍स में ओलंपिक मेडल जीता था, जो भारत का टेनिस में पहला मेडल था। पेस ने कहा, 'मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं। यह सिर्फ हिस्‍सा लेने वाली बात नहीं। आप लोग मुझे जानते हैं। अगर मैं ओलंपिक्‍स में जाऊंगा तो जीतने के इरादे से। उम्र महज आंकड़ा है। टेनिस गेंद को नहीं पता कि उस पर किस उम्र का खिलाड़ी प्रहार कर रहा है। वो शक्ति, स्पिन समझती है। यही हमारे काम आता है।'

यह पूछने पर कि दिविज शरण या रोहन बोपन्‍ना में से किसके साथ ओलंपिक्‍स में जोड़ी बनाएंगे। इस पर पेस ने कहा, 'जब ओलंपिक्‍स की बात आती है, तो मैं किस पार्टनर के साथ खेलता हूं, इससे बड़ी बात यह है कि भारत वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बनाएगा।' पेस ने कहा कि रोहन, दिविज या अंकिता रैना, वो सभी के साथ सहज हैं। उन्‍होंने कहा, 'मैंने पहले भी महेश, रोहन, सानिया के साथ ओलंपिक्‍स में खेला है। मैंने जो कुछ भी किया, वो देश के लिए अपने लोगों के लिए।'