Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

6 घंटे और 5 मिनट: लोरेंजो गुइसटिनो ने फ्रेंच ओपन का दूसरा सबसे लंबा मैच जीता

लोरेंजो गुइसटिनो
लोरेंजो गुइसटिनो
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 30 Sep 2020, 18:38 IST
न्यूज़
Advertisement

इटालियन क्‍वालीफायर लोरेंजो गुइसटिनो ने फ्रांस के कोरेंटीन मोटेट को सोमवार को फ्रेंच ओपन इतिहास के दूसरे सबसे लंबे मुकाबले में 0-6, 7-6 (9/7), 7-6 (7/3), 2-6, 18-16 से मात दी। लोरेंजो ने यह मुकाबला छह घंटे और पांच मिनट में जीता। विश्‍व नंबर-157 लोरेंजो गुइसटिनो ने पहला ग्रैंड स्‍लैम मेन ड्रॉ सुरक्षित किया और टूर स्‍तर जीत दर्ज की, जिसमें निर्णायक सेट 180 मिनट में जीता। यह मुकाबला रविवार से सोमवार तक खेला गया।

मोटेट ने लोरेंजो गुइसटिनो से ज्‍यादा अंक 217 से 242 जीते, लेकिन 29 साल के लोरेंजो ने विश्‍व रिकॉर्ड के 28 मिनट पहले मुकाबला अपने नाम किया। याद हो कि फ्रेंच ओपन इतिहास में सबसे लंबा मैच 2004 में फेब्रिस सांटोरा और अर्नोड क्‍लीमेंट के बीच छह घंटे और 33 मिनट तक खेला गया था।

लोरेंजो गुइसटिनो ने तीसरे राउंड में प्रवेश कर लिया है, जहां उनका मुकाबला 12वीं वरीय डिएगो श्‍वार्ट्जमैन से होगा। लोरेंजो गुइसटिनो को 84,000 यूरो ईनामी राशि के रूप में मिलना तय हो गया है। पिछले साल की तुलना में लोरेंजो गुइसटिनो की इस साल दोहरी कमाई होगी।

जीत से बेहद खुश हैं लोरेंजो गुइसटिनो

लोरेंजो गुइसटिनो ने थकाऊ मैच में जीत दर्ज करने के बाद कहा, 'अंत में, सबसे आक्रामक, जिसने जीतने की पूरी कोशिश की, उसकी जीत हुई। मेरे ख्‍याल से हम दोनों ही मैच नहीं हारना चाहते थे। महत्‍वपूर्ण प्‍वाइंट्स में दोनों ने ही गलती नहीं की। हम दोनों ने एकदम शक्तिशाली होकर खेला और हमने अपना सर्वश्रेष्‍ठ टेनिस खेला। निश्चित ही अंत में स्‍कोर 18-16 हुआ, लेकिन आखिरी समय में मुकाबला बेहद आक्रामक हो गया था। मेरा मतलब है कि हमने विनर्स लगाने की कोशिश की क्‍योंकि पता था कि कोई एक-दूसरे को किसी प्रकार से अंक नहीं देना चाहेगा।'

लोरेंजो गुइसटिनो ने पिछले टूर लेवल के चारों मुकाबले गंवाए और पिछले साल अगस्‍त में करियर की सर्वश्रेठ रैंकिंग 127 पर पहुंचे थे। लोरेंजो गुइसटिनो ने कहा, 'मुझे उम्‍मीद है कि इस मैच से मेरा विश्‍वास बढ़ेगा और मैं शीर्ष 100 में पहुंचने की उम्‍मीद करूंगा।'

वहीं मोटेट के लिए यह कड़वी दवाई खाने जैसा अनुभव रहा, जिसने यूएस ओपन के तीसरे राउंड और पिछले साल फ्रेंच ओपन के भी तीसरे राउंड तक का सफर तय किया था। 71वीं रैंकिंग वाले मोटेट ने कहा, 'मेरी भावनाएं, मुझे नहीं पता। हमने बहुत लंबा मैच खेला, तो मुझे कुछ नहीं पता। मैं अपने शरीर में अभी कुछ भी महसूस नहीं कर रहा हूं। मैं एकदम खाली हूं।'

Published 30 Sep 2020, 18:38 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit