Create
Notifications

फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली महिला क्‍वालीफायर बनीं नाडिया पोडोरोस्‍का

नाडिया पोडोरोस्‍का
नाडिया पोडोरोस्‍का
Vivek Goel
visit

अर्जेंटीना की नाडिया पोडोरोस्‍का फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली महिला क्‍वालीफायर बन गई हैं। पोडोरोस्‍का ने महिला सिंगल्‍स में यूक्रेन की तीसरी वरीय एलिना स्‍वीतोलिना को 6-2, 6-4 से मात देकर इतिहास रचा। विश्‍व नंबर-131 पोडोरोस्‍का ने दूसरी बार ग्रैंड स्‍लैम के प्रमुख दौर में जगह बनाई। उन्‍होंने बेल्जियम के फिलिप डेवुल्‍फ की बराबरी की, जो एकमात्र क्‍वालीफायर हैं, जिन्‍होंने 1968 में टेनिस के पेशेवर होने के बाद 1997 में रौलां गैरां के आखिरी चार में जगह बनाई थी।

फिलिप चैट्रियर कोर्ट पर जीत दर्ज करने के बाद पोडोरोस्‍का ने कहा, 'मैच के बाद कुछ भी कहना मेरे लिए थोड़ा मुश्किल है। सभी के समर्थन के लिए शुक्रिया। मैं बहुत बहुत खुश हूं। क्‍वारंटीन के दौरान मैंने अपने कोच के साथ अच्‍छा काम किया, जिसकी बदौलत आज यहां पहुंची हूं।' पिछले महीने स्‍ट्रासबर्ग जीतने के बाद स्‍वीतोलिना को फ्रेंच ओपन खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। पोडोरोस्‍का के खिलाफ मुकाबले में वह पूरे समय बैकफुट पर नजर आईं। वह फ्रेंच ओपन में तीसरी बार अंतिम-8 में जगह बनाने में नाकाम रहीं।

पोडोरोस्‍का का अब सामना पोलैंड की युवा इगा वियातेक या फिर एक और क्‍वालीफायर इटली की मार्टिना ट्रेविसान से होगा। अगर ट्रेविसाल अपना क्‍वार्टर फाइनल मुकाबला जीतने में कामयाब रहीं तो इससे सुनिश्चित हो जाएगा कि ओपन एरा में पहली बार ग्रैंड स्‍लैम फाइनल में एक महिला क्‍वालीफायर मैच खेलेगी।

1968 से सिर्फ एलेक्‍सांड्रा स्‍टीवनसन ने 1999 में विंबलडन और क्रिस्टिन डोरे ने 1978 ऑस्‍ट्रेलियन ओपन के सेमीाफइनल में जगह बनाई थी। अब पोडोरोस्‍का भी इस ग्रुप में जुड़ गई हैं। बता दें कि स्‍टीवसन और डोरे दोनों फाइनल में पहुंचने में नाकाम रहे थे।

पोडोरोस्‍का का फ्रेंच ओपन में लाजवाब प्रदर्शन

23 साल की पोडोरोस्‍का ने रौलां गैरां पर लगातार सात मुकाबले जीते थे और उन्‍होंने इसी लय को स्‍वीतोलिना के खिलाफ भी जारी रखा। यूक्रेनियाई ने उनकी पहली सर्व ब्रेक कर दी थी, लेकिन फिर पोडोरोस्‍का ने जबरदस्‍त खेल का मुआयना पेश किया और लगातार पांच गेम जीतते हुए स्‍कोर 5-1 कर दिया। चारों ब्रेक प्‍वाइंट को वो कन्‍वर्ट करने में कामयाब रहीं जबकि स्‍वीतोलिना सिर्फ 6 में से दो हासिल कर सकी। पोडोरोस्‍का ने 37 मिनट में पहला सेट अपने नाम किया।

मिश्रित ताकत और ड्रॉप शॉट का उपयोग करके पोडोरोस्‍का ने स्‍वीतोलिना को खूब परेशान किया और ऐसा लगा ही नहीं कि पिछले साल विंबलडन व यूएस ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली यूक्रेन की खिलाड़ी खेल रही है। दूसरे सेट में छह लगातार गेम्‍स सर्व के खिलाफ गए और पोडोरोस्‍का 5-4 की बढ़त पर थीं। पोडोरोस्‍का ने फॉरहैंड विनर लगाकर दूसरा मैच प्‍वाइंट हासिल किया।


Edited by Vivek Goel
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now