फ्रेंच ओपन : क्वार्टर-फाइनल में पहुंचकर जोकोविच ने तोड़ा नडाल का रिकॉर्ड

जीत के बाद जोकोविच जोरदार अंदाज में खुशी मनाते दिखे।
जीत के बाद जोकोविच जोरदार अंदाज में खुशी मनाते दिखे।

पूर्व विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के क्वार्टर-फाइनल में पहुंच गए हैं। तीसरी सीड जोकोविच ने चौथे दौर के मुकाबले में विश्व नंबर 94 पेरू के जुआन वरिलास को सीधे सेटों में 6-3, 6-2, 6-2 से मात दी। जोकोविच अपने करियर में 17वीं बार इस ग्रैंड स्लैम के क्वार्टर-फाइनल में पहुंचे हैं और ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी हैं। उन्होंने राफेल नडाल के रिकॉर्ड को तोड़ा।

दो बार फ्रेंच ओपन जीत चुके नडाल लगातार 14वीं बार इस प्रतियोगिता के अंतिम-8 का हिस्सा बने हैं। जोकोविच अगर इस बार फ्रेंच ओपन जीत जाते हैं तो उनके नाम 23 सिंगल ग्रैंड स्लैम हो जाएंगे और ऐसा करने वाले वह इतिहास के पहले पुरुष खिलाड़ी बन जाएंगे। यही नहीं उन्हें एटीपी विश्व नंबर 1 की रैंकिंग भी वापस मिल जाएगी। क्वार्टर-फाइनल में जोकोविच का सामना 11वीं सीड रूस के कैरन खाचानोव से होगा। खाचानोव ने इटली के लोरेंजो सोनेगो के खिलाफ जीत दर्ज की। खाचानोव पिछले साल यूएस ओपन और इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनलिस्ट रह चुके हैं।

जोकोविच के अलावा टॉप सीड स्पेन के कार्लोस अल्कराज ने भी अंतिम-8 में जगह बना ली है। अल्कराज ने 17वीं वरीयता प्राप्त इटली के लोरेंजो मुसेटी के खिलाफ 6-3, 6-2, 6-2 से जीत दर्ज की। राफेल नडाल की गैर मौजूदगी में अल्कराज और जोकोविच, दोनों को ही खिताब का दावेदार माना जा रहा है। क्वार्टर-फाइनल में अल्कराज का मुकाबला पांचवी वरीयता प्राप्त ग्रीस के स्टेफानोस सितसिपास से होगा। सितसिपास ने ऑस्ट्रियाई खिलाड़ी सबेस्टियन ऑफ्नर को 7-5, 6-3, 6-0 से हराने में कामयाबी दर्ज की।

इस बार फ्रेंच ओपन में 14 बार के चैंपियन राफेल नडाल नहीं खेल रहे हैं। ऐसे में पूर्व चैंपियंस में केवल नोवाक जोकोविच ही एकमात्र खिलाड़ी हैं जो अभी तक टूर्नामेंट में बचे हुए हैं। यही कारण है कि कई फैंस इस बार एक नए खिलाड़ी के ट्रॉफी जीतने की संभावना जता रहे हैं।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now