Create

2 हफ्ते में जोकोविच गंवा सकते हैं नंबर 1 का ताज, ये खिलाड़ी बनेगा विश्व नंबर 1 टेनिस प्लेयर

जोकोविच को ऑस्ट्रेलियन ओपन नहीं खेलने की वजह से 2000 रैंकिंग प्वाइंट का नुकसान होगा।
जोकोविच को ऑस्ट्रेलियन ओपन नहीं खेलने की वजह से 2000 रैंकिंग प्वाइंट का नुकसान होगा।

दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच लंबी कानूनी लड़ाई के बाद साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन में नहीं खेल पाएंगे। ऑस्ट्रेलियाई कोर्ट ने जोकोविच का वीजा कैंसिल किए जाने के फैसले का पक्ष लिया। ऐसी स्थिति में प्रबल संभावना है कि ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद जोकोविच दुनिया के नंबर 1 खिलाड़ी होने का हक खो देंगे और उनकी जगह मेदवेदेव या ज्वेरेव ले सकते हैं। सर्बिया के जोकोविच पिछले 354 हफ्तों से एटीपी नंबर 1 की रैंकिंग पर काबिज हैं जो कि एक रिकॉर्ड है।

2000 रैंकिंग प्वाइंट दांव पर

ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग लेने के लिए विशेष अनुमति के साथ आए जोकोविच को आयोजकों ने मुख्य ड्रॉ में शामिल किया था और उन्हें पहली वरीयता भी मिली थी। लेकिन अब जब जोकोविच टूर्नामेंट में नहीं खेल पाएंगे, तो उन्हें पूरे 2000 रैंकिंग प्वाइंट का नुकसान झेलना पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि जोकोविच ने पिछले साल ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीतकर कुल 2000 रैंकिंग अंक कमाए थे। वहीं फाइनल में जोकोविच से हारने वाले मेदवेदेव को 1200 प्वाइंट मिले थे। नियमों के हिसाब से टूर्नामेंट में एक साल पहले जितने अंक खिलाड़ी ने कमाए होते हैं उतने इस साल उसे डिफेंड करने होते हैं।

रूस के मेदवेदेव (बाएं) या जर्मनी के ज्वेरेव (दाएं) में से कोई एक विश्व नंबर 1 बन सकता है।
रूस के मेदवेदेव (बाएं) या जर्मनी के ज्वेरेव (दाएं) में से कोई एक विश्व नंबर 1 बन सकता है।

फिलहाल एटीपी रैंकिंग में जोकोविच के 11,015 अंक हैं और वो पहले स्थान पर हैं। वहीं दूसरे नंबर पर काबिज रूस के डेनिल मेदवेदेव के कुल 8935 अंक हैं। वहीं जर्मनी के ऐलेग्जेंडर ज्वेरेव के 7970 अंक हैं।ज्वेरेव ने 2021 के ऑस्ट्रेलियन ओपन के क्वार्टर-फाइनल में जगह बनाई थी और केवल 360 अंक कमाए थे। गत विजेता जोकोविच की गैर मौजूदगी में डेनिल मेदवेदेव और ज्वेरेव खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। ऐसे में दोनों में से जो भी खिलाड़ी पुरुष एकल का खिताब जीतता है वो दुनिया का नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी बन जाएगा। हालांकि जोकोविच के फैंस को भरोसा है कि भले ही ऑस्ट्रेलियन ओपन में जोकोविच न खेल रहे हों, लेकिन वो जल्द ही साल के बचे तीनों ग्रैंड स्लैम में शानदार वापसी कर अपना नंबर 1 का खिताब बचा लेंगे।

एटीपी ने बताया खेल का नुकसान

ऑस्ट्रेलिया की ओर से वीजा कैंसिल होने और कोर्ट के द्वारा इस फैसले का पक्ष लेने के बाद एटीपी की ओर से आधिकारिक बयान जारी कर इसे खेल का नुकसान बताया गया है। एटीपी ने आधिकारिक बयान में कहा कि वो फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन जोकोविच का ऑस्ट्रेलियन ओपन में न खेलना इस खेल के लिए नुकसानदायक है। इसके साथ ही एटीपी ने सभी खिलाड़ियों से अपील की कि वो अपना कोविड वैक्सिनेशन जरूर करवाएं।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment