मोंटे-कार्लो मास्टर्स : पूर्व विश्व नंबर 1 डेनिल मेदवेदेव की चौंकाने वाली हार, गत विजेता सितसिपास भी बाहर

मेदवेदेव ने अपने करियर में मोंटे-कार्लो का खिताब कभी नहीं जीता है।
मेदवेदेव ने अपने करियर में मोंटे-कार्लो का खिताब कभी नहीं जीता है

फ्रांस में हो रही मोंटे-कार्लो मास्टर्स एटीपी 1000 प्रतियोगिता के क्वार्टर-फाइनल मुकाबलों में बड़े उलटफेर देखने को मिले हैं। नोवाक जोकोविच के बाहर होने के बाद खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे रूस के डेनिल मेदवेदेव भी अपना मैच हार गए हैं। यही नहीं, पिछले दो सालों से यहां विजेता बनते आ रहे ग्रीस के स्टेफानोस सितसिपास को भी हार झेलनी पड़ी।

टूर्नामेंट में तीसरी सीड और इस सीजन 4 खिताब जीत चुके मेदवेदेव को क्वार्टर-फाइनल में डेनमार्क के युवा खिलाड़ी छठी सीड होल्गर रूने ने सीधे सेटों में 6-3, 6-4 से मात दी। 19 साल के रूने ने विश्व नंबर 5 मेदवेदेव को मैच के दौरान हर तरफ भागने को मजबूर किया और करियर के दूसरे एटीपी 1000 टूर्नामेंट सेमीफाइनल में पहुंचने में कामयाब रहे। दोनों खिलाड़ियों के करियर की यह पहली भिड़ंत थी जहां रूने विजयी रहे। मेदवेदेव ने हाल ही में मियामी ओपन का खिताब जीता था और मोंटे-कार्लो मास्टर्स में फाइनलिस्ट माने जा रहे थे।

अब सेमीफाइनल में रूने का मुकाबला इटली के 7वीं सीड जैनिक सिनर से होगा। सिनर ने दूसरे क्वार्टर-फाइनल में हमवतन और 16वीं वरीयता प्राप्त लोरेंजो मुसेटी को मात दी। मुसेटी ने एक दिन पहले ही विश्व नंबर 1 नोवाक जोकोविच को कड़े मैच में हराकर सभी को हैरान कर दिया था, लेकिन सिनर ने मुसेटी के इस जश्न पर विराम लगा दिया। सिनर ने यह मैच आसानी से 6-2, 6-2 से अपने नाम किया।

दिन के बड़े उलटफेर में दूसरी सीड ग्रीस के स्टेफानोस सितसिपास को भी हार झेलनी पड़ी। साल 2021 और 2022 में यहां विजेता बनने वाले सितसिपास को 8वीं सीड अमेरिका के टेलर फ्रिट्ज ने आसानी से 6-2, 6-4 के अंतर से मात दी।

सितसिपास को फ्रिट्ज ने काफी परेशान किया और उन्होंने कई गलतियां की जिसका परिणाम हार के रूप में मिला। फ्रिट्ज इससे पहले सितसिपास के खिलाफ खेले गए तीनों मैच हारे थे और ग्रीक खिलाड़ी पर उनकी पहली जीत है।

दूसरे सेमी फाइनलमें फ्रिट्ज का मुकाबला 5वीं सीड रूस के एंड्री रुब्लेव से होगा। रुब्लेव ने गैर वरीय जर्मनी के यान लैनर्ड-स्ट्रफ पर 6-1, 7-6 से जीत दर्ज कर अंतिम-4 में जगह बनाई। रुब्लेव साल 2021 में यहां उपविजेता रहे थे, ऐसे में चारों सेमीफाइनलिस्ट में उन्हें इस कोर्ट का सबसे ज्यादा अनुभव है। खास बात यह है कि सेमीफाइनल में पहुंचने वाले चारों खिलाड़ियों में से किसी ने भी इस खिताब को नहीं जीता है ऐसे में इस बार मोंटे-कार्लो मास्टर्स में नया विजेता मिलना तय है।

App download animated image Get the free App now